नॉर्थ ईस्ट के विकास में कनेक्टिविटी के पंख, बन रहा दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पियर ब्रिज

नॉर्थ ईस्ट के विकास में कनेक्टिविटी के पंख, बन रहा दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पियर ब्रिज

इसी प्रोजेक्ट के तहत नोने डिस्ट्रिक्ट में बनाया जा रहा है ये 140 मीटर ऊंचा रेलवे पियर ब्रिज - यानि ऊंचे ऊंचे खंभों के सहारे बन रहा ब्रिज

अपडेटेड Nov 30, 2021 पर 9:13 AM | स्रोत : CNBC Awaaz

मणिपुर और अरूणाचल प्रदेश जैसे पूर्वोत्तर राज्यों में रेल कनेक्टिविटी बढ़ाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता है। इसी कड़ी में इम्फाल में दुनिया का सबसे ऊंचा पियर रेलवे ब्रिज बन रहा है।

उत्तर पूर्व में रेल कनेक्टिविटी के लिहाज से मणिपुर की राजधानी इंफाल तक ट्रेन ले जाना भारतीय रेल की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है। फिलहाल भारतीय रेल की दस्तक मणिपुर के वेंगाईचुंगपो इलाके तक ही है, लेकिन अब वेंगाईचुंगपो से इम्फाल तक रेल लाइन का काम चल रहा है। इसे जिरिबाम - इम्फाल प्रोजेक्ट के नाम से जानते हैं।

इसी प्रोजेक्ट के तहत नोने डिस्ट्रिक्ट में बनाया जा रहा है ये 140 मीटर ऊंचा रेलवे पियर ब्रिज - यानि ऊंचे ऊंचे खंभों के सहारे बन रहा ब्रिज। जिरिबाम- इंफाल के रेल लाइन से जुड़ जाने से आम लोगों के साथ ही इलाके की खूबसूरती को देखने के लिए सैलानियों के लिए बड़ी सुविधा देने वाला है।

नार्थईस्ट में टूरिज्म के साथ ट्रेड में भी ये प्रोजेक्ट नए पंख लगाएगा। मणिपुर की 70% आबादी इंफाल में बसती है यहां जरूरत के सामान मसलन फूड ग्रेंस, दवाइयां या इलेक्ट्रॉनिक पार्ट्स भी कई इलाकों में म्यांमार से मंगाए जाते हैं।

म्यांमार से इंफाल की दूरी करीब 110 किलोमीटर है। अनुमान के मुताबिक इस रेलवे प्रोजेक्ट से बर्मा, भूटान और म्यांमार जैसे देशों से व्यपारिक संबंध भी बढ़ेंगे। हालांकि दुर्गम पहाड़ियों और खराब मौसम के बीच भारतीय इंजीनियरिंग के इस नयाब प्रोजेक्ट को बनाना रेलवे के लिए एक बड़ी चुनौती भी है। इन तमाम चुनातियों के बावजूद रेलवे ने 2023 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य रखा है।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Nov 30, 2021 9:13 AM