Moneycontrol » समाचार » बीमा

हर बीमारी के लिए अलग-अलग कवर, जानिये Maternity Benefits वाली हेल्थ पॉलिसी

पॉलिसी रिन्यु के 30-40 दिन पर पोर्टेबिलिटी ऑप्शन चुन सकते हैं।
अपडेटेड Dec 06, 2019 पर 17:26  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हेल्थ इंश्योरेंस का कवरेज कैसे बढाएं। टॉप अप लें या नई पॉलिसी का रूख करें। हेल्थ प्लान का कवरेज बढाने का सही और किफायती रास्ता क्या होता है। फैमिली प्लानिंग करने के पहले अपनी इंश्योरंस प्लानिंग किजिए। सीएनबीसी-आवाज़ के योर मनी पर एटिका वेल्थ मैनेजमेंट के निखिल कोठारी से इंश्योरेंस और फाइनेंशियल प्लानिंग के मंत्र जानिये।
सवालः मेरी उम्र 40 साल है। मेरी सालाना आय 6 लाख रुपये है। मेरा LIC Jeevan Amar का 50 लाख रुपये का कवर है। क्या मुझे टर्म प्लान का कवर बढ़ाना सही होगा? क्या टर्म प्लान के लिए LIC या SBI की पॉलिसी लेना सही होगा या ऑनलाइन टर्म प्लान लेना ठीक है? टॉप अप या नई पॉलिसी खरीदें।


निखिल कोठारी की सलाहः आपको पॉलिसी में बेहतर फायदे नहीं मिलने पर पोर्टेबिलिटी ऑप्शन चुनना चाहिए। पॉलिसी रिन्यु के 30-40 दिन पर पोर्टेबिलिटी ऑप्शन चुन सकते हैं। ऑनलाइन प्लान लेना सस्ता होता है, ऑफलाइन में एजेंट की मौजूदगी होती है हालांकि क्लेम सेटलमेंट अलग-अलग कारणों पर निर्भर होता है।


सवालः मेरी 6 महीने पहले शादी हुई है। फैमली शुरू करने से पहले हेल्थ कवर लेना है। Pregnancy और Delivery कवर पॉलिसी पर सलाह दें।


निखिल कोठारी की सलाहः ज्यादातर इंश्योरेंस पॉलिसी में Pregnancy का खर्च कवर नहीं होता है। कुछ पॉलिसी में 2 से 4 साल वेटिंग के बाद आधा खर्च कवर होता है।
आधा खर्च कवर भी केपिंग के साथ होता है। SBI Gen Ins की Arogya Premier में 9 माह बाद Maternity खर्च कवर होता है। हेल्थ पॉलिसी में Maternity के अलावा कई और कवरेज भी होते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।