Moneycontrol » समाचार » बीमा

जॉब इंश्योरेंस! इसके फायदे ढूंढते रह जाओगे

प्रकाशित Wed, 01, 2019 पर 09:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जब आप नई नौकरी ढूंढते हैं तो क्या चाहते हैं? बड़ा केबिन, मोटी सैलरी के साथ जॉब सिक्योरिटी। जेट एयरवेज का कामकाज अचानक बंद हो जाने से हजारों कर्मचारियों की नौकरियां चली गईं। बदलते वक्त के साथ जॉब की अनिश्चितता बढ़ रही है. लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि जॉब इंश्योरेंस लेने का विज्ञापन क्यों नहीं आता. ऐसे दौर में जब आपके AC का भी इंश्योरेंस हो सकता है तो क्या जॉब का भी कोई इंश्योरेंस है।


जॉब इंश्योरेंस तो हैं लेकिन किसी काम के नहीं। अगर आपको यह डर हो कि अगले कुछ महीने में आपकी जॉब जा सकती है। और नई नौकरी खोजने में वक्त लग सकता है. इस बीच फाइनेंशियल सिक्योरिटी के लिए अगर आप जॉब इंश्योरेंस लेना चाहते हैं तो यह आपके किसी काम नहीं आ सकता। मुमकिन है कि आप जॉब इंश्योरेंस की शर्तों को पूरा ही ना कर पाएं। इसलिए जॉब इंश्योरेंस लेने से पहले उसके शर्तों को जरूर पढ़ लें.


स्टैंड अलोन जॉब लॉस कवर नहीं


कोई भी बीमा कंपनी स्टैंड अलोन जॉब लॉस इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं देती है। यह सिर्फ दूसरी पॉलिसी के साथ ऐड-ऑन मिलता है। यह सिर्फ एक्सिडेंट और क्रिटिकल इलनेस में ही कवर देता है। अगर आपको नौकरी से निकाल दिया जाता है तो यह कवर काम नहीं आएगा।


किसे मिलेगा कवर?


बीमा कंपनियां इस कवर में सिर्फ तीन EMI ही चुकाती हैं। और इसकी भी एक लिमिट होती है। यह आपकी आमदनी के 50 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकता है। इसमें एक से तीन महीने का वेटिंग पीरियड होता है। इस दौरान सिर्फ एकबार ही क्लेम किया जा सकता है।


क्या हैं जॉब लॉस के मायने?


अगर कंपनी के अधिग्रहण या विलय की वजह से आपकी नौकरी जाती है तभी आपको जॉब इंश्योरेंस का फायदा मिलेगा। इसके लिए आपको लिखित सबूत भी देना होगा। बगैर सबूत आपको कवर नहीं मिलेगा।


क्या जॉब लॉस नहीं है?


हर पॉलिसी में कुछ एक्सक्लूजन होता है जिसकी वजह से आपका क्लेम रद्द हो सकता है। अधिग्रहण और विलय के अलावा किसी और वजह से आपकी नौकरी जाती है तो उसे कवर नहीं मिलेगा। किसी सेल्फ एंप्लॉयड की नौकरी जाती है तो कवर नहीं मिलेगा। प्रोबेशन पीरियड में नौकरी जाती है तो भी कवर नहीं मिलेगा। सस्पेंशन या टर्मिनेशन होने पर भी कवर का फायदा नहीं मिलेगा।