Moneycontrol » समाचार » बीमा

जानिए क्या है वेडिंग इंश्योरेंस और आपके लिए क्यों है जरूरी?

अगर विवाह के समय आपके जेवर चोरी हो जाते हैं या कोई अचानक एक्सीडेंट हो जाए तो ऐसे मामले में यह एक बहुत बड़ा सुरक्षा कवच है।
अपडेटेड Dec 24, 2019 पर 15:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अभी तक आपने कार इंश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस और कंपनियों के इंश्योरेंस के बारे में सुना होगा। आज हम आपको बताएंगे वेडिंग इंश्योरेंस यानी विवाह बीमा या दूसरे शब्दों में शादी बीमा के बारे में ।


वैसे तो हम भारतीय लोग शादी में जमकर पैसे खर्च करते हैं। इसे खर्च करने में कोई संकोच नहीं करते। आज कल के शादी-विवाह समारोह के दौरान आप लोगों ने कई बार सुना होगा कि शादी के समय गहने चोरी हो गए, शादी के समय कोई नुकसान हो गया।  ऐसे में तमाम समस्याएं न चाहते हुए भी आ जाती हैं। इन सभी परेशानियों से बचने के लिए लोग शादी बीमा (Wedding Insurance) ले रहे हैं। यह एक नया चलन है, लिहाजा कई कंपनियां भी अब वेडिंग इंश्योरेंस दे रही हैं। भारत में ICICI Lombard, Future Generali, Oriental Insurance, Bajaj Allianz जैसी कंपनियां वेडिंग इंश्योरेंस देती हैं।


जानिए क्या है वेडिंग इंश्योरेंस पॉलिसी


शादी के लिए इंश्योरेंस कंपनियां कई तरह की पॉलिसी तैयार रखती हैं। आपकी जरूरत के मुताबिक पैकेज तैयार रहता है। आप अपनी सुविधानुसार कोई पैकेज चुन सकते हैं।


क्यों है वेडिंग इंश्योरेंस की जरूरत :


शादी कैंसल होने पर, आपके जेवर चोरी होने पर शादी के अचानक बाद एक्‍सीडेंट होने पर या शादी रुक जाने पर। ऐसी तमाम समस्याओं के लिए  वेडिंग इंश्‍योरेंस आपकी सहायता और सुरक्षा करेगा।  एक अच्छी बीमा पॉलिसी के जरिए आप अपने नुकसान की भरपाई कर सकते हैं।


किन चीजों का होता है इंश्योरेंस


शादी के लिए किसी बुक किए हुए किसी हॉल या रिसॉर्ट के एडवांस पैसों का इंश्योरेंस होत है। ट्रैवेल एजेंसी को दी गई एडवांस पेमेंट, होटल की एडवांस बुकिंग, शादी के कार्ड का पेमेंट, शादी के वेन्यू सेट से लेकर अन्य सजावट औप म्यूजिक के लिए इंश्योरेंस होता है।


इन बातों का रखें ध्यान


इंश्योरेंस लेते समय पॉलिसी में क्या-क्या कवर किया जाएगा। इसकी पूरी जानकारी हासिल कर लें। अगर किसी का पहले से इंश्योरेंस कवर है तो पहले से पत कर ले कि किस तरह ये कवर मिलेगा। सारी लोकेशन की जारी इंश्योरेंस कंपनी को मुहैया करा दें। अगर किसी भी प्रकार की चोरी हो जाए, तो उसकी जानकारी पुलिस को दें और उसकी एक FIR की कॉपी इंश्योरेंस कंपनी को देना होता है। अपने पेपेर हमेशा दुरुस्त रखें। ताकि जरूरत के टाइम इन्हें पेश किया जा सके।


कब लें शादी बीमा पॉलिसी


वैसे तो शादी बीमा पॉलिसी शादी की डेट फिक्‍स होने पर या शादी के दो साल पहले ही ली जाती है। लेकिन अगर आपकी शादी अगले साल ही होने वाली है तो टेंशन की कोई बात नहीं है आप रिसेप्‍शन और अन्‍य खर्चों के लिए बीमा करा सकते हैं।


शादी कैंसिल होने पर भी मिलेगा कवर


अगर आपकी शादी एक्‍सीडेंट, फायर या प्राकृतिक आपदाओं के कारण कैंसल हो गई है या शादी की डेट आगे बढ़ गई है तो भी वेडिंग इंश्‍योरेंस इन सबका खर्च आपको देगा।


इन चीजों में नहीं मिलता कवर


अगर शादी के समय कोई आतंकवादी हमला हो गया, शादी अचानक से कैंसल हो जाए, दूल्हा-दुल्हन की गलती से फ्लाइट या ट्रेन छूट जाए, शादी का स्थल अचानक से बदल जाए, किसी भी तरह की इलेक्ट्रिकल य़ा मैकेनिकल खराबी आना या खुद को जानबूझकर किसी तरह का नुकसान पहुंचाना। ऐसी स्थितियों में आप क्लेम नहीं कर सकते। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।