Moneycontrol » समाचार » बीमा

आरोग्य संजीवनी पॉलिसी क्या है और किसके लिए होगी उपयुक्त

IRDAI ने बीमा कंपनियों के लिए स्टैंडर्ड हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट लॉन्च करने को जरूरी कर दिया है
अपडेटेड May 19, 2020 पर 09:13  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आरोग्य संजीवनी पॉलिसी को कोरोना वायरस को देखते हुए लॉन्च किया गया है। आज देश भर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या का ग्राफ लगातार बढता दिखाई दे रहा है। इससे देश की अर्थव्यवस्था को भी नुकसान पहुंच रहा है। लोगों के स्वास्थ्य को देखते हुए सरकार और इंश्योरेंस रेग्युलेटर IRDAI ने इस सेक्टर में कुछ सुधार के लिए कदम बढ़ाए हैं। आयुष्मान भारत प्रधान प्रधानमंत्री जनधन योजना (Ayushman Bharat Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana) साल 2018 में शुरू की गई थी। जिसका मकसद देश क 40 फीसदी आबादी यानी 50 करोड़ लोगों को फ्री में स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराना था। इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (IRDAI) ने बीमा कंपनियों के लिए स्टैंडर्ड हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट लॉन्च करने को अनिवार्य बना दिया है। IRDAI द्वारा जारी गाइडलाइंस के मुताबिक, सभी जनरल और हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को 1 अप्रैल 2020 से एक यूनिफॉर्म हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट लॉन्च करना जरूरी होगा। इस पॉलिसी का एकसमान नाम आरोग्य संजीवनी पॉलिसी होगा।  इसका मकसद हेल्थ इंश्योरेंस को आसान और स्टैंडर्ड बनाना है जिससे ज्यादा लोग इसे खरीद सकें और ज्यादा लोगों तक यह पहुंचे। देश की 29 हेल्थ इंश्योरेंस और जनरल इंश्योरेंस कंपनियां इस पॉलिसी को दे रही हैं। 


जानिए इसके ऑफर


आरोग्य संजीवनी एक हेल्थ प्लान है जो कि एक साल के लिए 1.5 लाख रुपये का लिमिटेड कवर मिलता है। इसकी सालाना प्रीमियम 4,000 रुपये से लेकर 7,500 रुपये तक है। इसे एक व्यक्तिगत, पारिवारिक फ्लोटर प्लान के तहत भी खरीद सकते हैं। इसमें पति-पत्नी, बच्चे, माता-पिता सभी शामिल होते हैं। इसमें कम से कम 1 लाख रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं। इसमें प्रीमियम को अपने मुताबिक मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर पर सकते हैं।


इसमें 30 दिनों के वेटिंग पीरियड है। इसमें कोरोना वायरस और अन्य बीमारियों के इलाज की लागत इसमें शामिल है। इसमें डेंटल (dental) और प्लास्टिक सर्जरी (plastic surgery) के अलावा डे-केयर ट्रीटमेंट (daycare treatment) आयुष (Ayush) और आधुनिक इलाज शामिल हैं। हालांकि इसमें कुछ ट्रीटमेंट के कवरेज में कुछ पाबंदी और लिमिट लगी हुई है। इस पॉलिसी को लाइफ में कभी भी रिन्यू कराने का विकल्प है।  पॉलिसी को लेने की कम से कम उम्र 18 साल रखी गई है और अधिक से अधिक 65 साल है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें