Moneycontrol » समाचार » बीमा

क्या युवाओं के लिए लाइफ इंश्योरेंस लेना ठीक है? आखिर कब खरीदना चाहिए इंश्योरेंस?

प्रकाशित Mon, 01, 2019 पर 13:49  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पिछले कुछ सालों में युवाओं में लाइफ इंश्योरेंस खरीदने का चलन बढ़ा है। खास बात ये है कि युवा लाइफ इंश्योरेंस टैक्स बचाने के लिए नहीं सेविंग्स के मकसद से खरीद रहे हैं। लेकिन सेविंग्स के लिए दूसरे ऐसे कई तरीके हैं, जो लाइफ इंश्योरेंस की तुलना में बेहतर रिटर्न देंगे।


अगर सेविंग्स करना लाइफ इंश्योरेंस लेने की अकेली वजह है, तो रुकिए पहले कुछ बातें साफ कर लीजिए।


युवाओं के लिए लाइफ इंश्योरेंस खरीदना ठीक है?


लाइफ इंश्योरेंस आपके और आपके परिवार के लिए एक सेफ्टी नेट है। लाइफ इंश्योरेंस का उद्देश्य ही ये है कि आपके न रहने के बाद आपके परिवार को आर्थिक सुरक्षा मिल सके। वहीं, आप कौन सा इंश्योरेंस ले रहे हैं, ये भी अहम रखता है।


आपको लाइफ इंश्योरेंस की जरूरत तब पड़ती है, जब आपके ऊपर कोई निर्भर होता है। लाइफ इंश्योरेंस तभी जरूरी जान पड़ता है, जब आपको कोई प्रोटेक्शन प्लान चाहिए। लेकिन अगर आप बचत करना चाहते हैं या पैसे जोड़ना चाहते हैं तो आपके पास टैक्स सेविंग म्युचुअल फंड स्कीम या पीपीएफ में निवेश करने के बेहतर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं।


इंश्योरेंस लेना ही है तो कब और कौन सा लें?


अगर आप लाइफ इंश्योरेंस लेना ही चाहते हैं तो बेहतर होगा कि आप टर्म प्लान लें। हालांकि, भारत में आम निवेशक टर्म प्लान को उतनी अहमियत नहीं देते, लेकिन अगर आर्थिक विशेषज्ञों की मानें तो टर्म प्लान सबसे बेहतर कॉस्ट एफीशिएंट प्रोटेक्शन प्लान है। इसमें आपको कम प्रीमियम भरना होता है और साथ ही आपकी फैमिली को प्रोटेक्शन भी मिलता है।


टर्म प्लान आपको तभी लेना चाहिए, जब आप पर कोई निर्भर हो। लेकिन परिवार बनते ही आपको टर्म प्लान ले लेना चाहिए क्योंकि आप जितनी प्लान लेने में जितनी देर करेंगे आपको उतना ज्यादा प्रीमियम भरना पड़ेगा।


टर्म प्लान जितनी कम उम्र में लिया जाए, उतना कॉस्ट-एफीशिएंट होता है। जहां, लाइफ इंश्योरेंस में आपको ज्यादा प्रीमियम भरना पड़ता है, वहीं टर्म प्लान में आपको उसकी तुलना में बहुत कम प्रीमियम भरना होगा। टर्म प्लान अगर आपने कम उम्र में नहीं लिया तो एक निश्चित उम्र सीमा के बाद आपको कुछ मेडिकल टेस्ट्स भी गुजरना पड़ेगा।


फाइनेंशियल कंपनीज ज्यादा उम्र हो जाने पर इंश्योरेंस कवर देने में हिचकिचाती हैं क्योंकि आपके पास प्रीमियम भरने का वक्त कम होता है। ऐसे में अगर तयशुदा वक्त में प्रीमियम भले ही पूरा न कर पाएं, कंपनियों को आपको आपका कवर चुकाना होता है।


निष्कर्ष


चूंकि लाइफ इंश्योरेंस का अकेला उद्देश्य आपकी फैमिली को प्रोटेक्शन देना है तो अच्छा होगा कि आप टर्म प्लान चुनें। सेविंग्स करनी हैं तो निवेश करके बेहतर रिटर्न लेने का ऑप्शन बेहतर है।