Moneycontrol » समाचार » बीमा

एजेंट की गलती से लैप्स हुई पॉलिसी, क्या करें!

योर मनी पर हम समय-समय पर टैक्स बचाने के लिए सही निवेश रणनीति बताते रहते हैं।
अपडेटेड Mar 29, 2018 पर 15:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इनकम टैक्स रिटर्न भरने का आखिरी हफ्ता है और इसी के लिए लंबे वीकेंड के बावजूद 29, 30 और 31 मार्च को आईटी ऑफिस खुले रहेंगे। यानि पब्लिक हॉलिडे के दिन भी आप आईटी रिटर्न भर सकेंगे। योर मनी पर हम समय-समय पर टैक्स बचाने के लिए सही निवेश रणनीति बताते रहते हैं। लेकिन आज योर मनी में फोकस कर रहें हैं ऐसे ही एक विकल्प इंश्योरेंस पर। टर्म इंश्योरेंस से मोटर इंश्योरेंस से जुड़ी उलझनों का जवाब देंगे और इसमें हमारा साथ देंगे ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के एमडी पंकज मठपाल।


सवालः 2009 में मेट लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी 10 सालों के लिए 1 लाख सालाना प्रीमियम पर एजेंट के जरिए खरीदी थी। एजेंट ने दूसरे साल का प्रीमियम जमा नहीं किया और तीसरे साल एजेंट ने बताया कि पॉलिसी लैप्स हुई है। कई पॉलिसियों में पैसा फंसा है, इसे कैसे वापस लिया जा सकता है?


पंकज मठपाल: अगर यूलिप में निवेश किया है तो यूनिट्स मिली होंगी। ये यूनिट्स डिसकंटिन्यूएशन फंड में स्विच हुईं होगी। यूलिप में 5 साल का लॉक-इन पीरिएड है। पॉलिसी लेने के 5 साल बाद यूनिट्स रीडीम कर सकते हैं।


सवालः एगॉन आई-टर्म प्लान लिया है जिसका प्रीमियम 607 प्रति माह है और प्लान का सम इंश्योर्ड 60 लाख रुपये का है। प्लान के फीचर्स से संतुष्ट नहीं है। 50 लाख रुपये का और सम इंश्योर्ड चाहिए, क्या एक और टर्म प्लान खरीदना चाहिए?क्या एगॉन के ही दूसरे प्लान में स्विच करना बेहतर?कितने टर्म के लिए इंश्योरेंस प्लान लेना सही?


पंकज मठपाल: एडलवाइस टोक्यो लाइफ का माय लाइफ+ लेने की सलाह होगी। एकमुश्त या पीरियोडिकल पे-आउट विकल्प चुन सकते हैं। आईसीआईसीआई प्रु. आई-प्रोटेक्ट स्मार्ट प्लान भी ले सकते हैं। इस पॉलिसी में कई राइडर्स का विकल्प है। टर्मिनल इलनेस, क्रिटिकल इलनेस, वेवर ऑफ प्रीमियम राइडर्स ले सकते है।