Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनीः कैसे करें सही इंश्योरेंस प्लान का चुनाव

हर्षवर्धन रूंगटा ने बताया कि कम इंश्योरेंस जेब पर भारी पड़ सकता है।
अपडेटेड Dec 26, 2017 पर 16:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लाइफ और हेल्थ के अलावा भी इंश्योरेंस करना चाहिए। एसेट के सही वैल्यू को समझना जरूरी है और एसेट का सही इंश्योरेंस करना भी जरूरी है। प्रॉपर्टी और मोटर इंश्योरेंस के लिए सही कवर का चुनाव करना चाहिए।


योर मनी में रूंगटा सिक्योरिटीज के डायरेक्टर, हर्षवर्धन रूंगटा ने बताया कि कम इंश्योरेंस जेब पर भारी पड़ सकता है। अंडर इंश्योर्ड में कम क्लेम मिलता है, यानि एसेट का कवर अगर असल वैल्यू से कम हो तो आधा ही इंश्योरेंस मिलता है। सही वैल्यू से कम कवर को अंडर इंश्योरेंस कहते हैं। जागरुकता की कमी के चलते अंडर इंश्योरेंस के मामले सामने आते हैं। हर्षवर्धन रूंगटा के मुताबिक कम प्रीमियम के चक्कर में नुकसान हो सकता है। साथ ही बीमा को केवल टैक्स बचत के लिए ना देखें।