Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: बीमा कराना क्यों है जरूरी!

हमारी मदद कर रही हैं 5nance.com की असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट, मंजू ढाके।
अपडेटेड Jun 27, 2018 पर 11:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी फोकस कर रहा है इंश्योरेंस पर। सबसे पहले बात करते हैं नेशनल इंश्योरेंस स्कीम्स की, यानि सरकार जो आपको इंश्योरेंस पॉलिसी दे रही है - क्या इनको लेना चाहिए या इन पॉलिसी के तहत आपको कवर करना चाहिए? हमारी मदद कर रही हैं 5nance.com की असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट, मंजू ढाके


मंजू ढाके ने बताया कि केंद्र सरकार की बीमा योजना के तहत प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना शामिल हैं। 18-50 साल के आयु वाले केंद्र सरकार की लाइफ इंश्योरेंस स्कीम ले सकते हैं। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा की अवधि 1 साल की है और इसका सालाना प्रीमियम 330 रुपये है। इसके तहत अश्योर्ड रकम 2 लाख रुपये का है और क्लेम के लिए संबंधित इंश्योरेंस कंपनी क्लेम करेगी। 45 दिनों में क्लेम मिल जाता है।


वहीं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एक्सीडेंट इंश्योरेंस स्कीम है। इस पॉलिसी की अवधि भी 1 साल की है, लेकिन इसमें 18-70 साल के आयु वाले पॉलिसी ले सकते हैं। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का सालाना प्रीमियम 12 रुपये है और इसमें अश्योर्ड रकम 2 लाख रुपये है। एक्सीडेंटल डेथ पर 2 लाख रुपये का कवर मिलेगा। इसके अलावा परमानेंट टोटल डिसिबिलिटी पर भी 2 लाख रुपये का कवर मिलेगा, जबकि परमानेंट पार्शियल डिसिबिलिटी पर 1 लाख रुपये का कवर मिलेगा।


राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 30,000 रुपये तक के कवर का प्रावधान है और ये 5 सदस्यों के परिवार के लिए फ्लोटर योजना है। इस स्कीम से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले और असंगठित मजदूरों को फायदा होगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए आइडेंटिटी प्रूफ देना होगा और बीमा के लिए 30 रजिस्ट्रेशन फीस देनी होगी। बीमा लेते वक्त स्मार्ट कार्ड मिलेगा और केंद्र के अलावा राज्य प्रीमियम अदा करेंगे। केंद्र सरकार 75 फीसदी राज्य सरकार 25 फीसदी प्रीमियम देती है।