Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: कौन सा हेल्थ प्लान खरीदें

आपके सवालों का जवाब देने के लिए हमारे साथ जुड़े हैं ओए पैसा के फाउंडर, उदय धूत।
अपडेटेड Mar 07, 2017 पर 18:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में इस बार हम फोकस कर रहे हैं इंश्योरेंस पर। आपके सवालों का जवाब देने के लिए हमारे साथ जुड़े हैं ओए पैसा के फाउंडर, उदय धूत


सवाल : आशीष ने एचडीएफसी लाइफ क्लिक2कनेक्ट और बजाज आलियांज फ्यूचर गेन पॉलिसी ली हुई है। साथ ही आशीष की म्युचुअल फंड में 10,000 रुपये की योजना है, ऐसे में कौन से फंड मे निवेश करना फायदेमंद होगा? इसके अलावा एलआईसी की इंश्योरेंस पॉलिसी है, क्या इसकी जगह यूलिप में निवेश करना चाहिए?


जवाब : उदय धूत का कहना है कि निवेश और इंश्योरेंस को अलग रखने में समझदारी है। इंश्योरेंस के लिए टर्म प्लान लेना चाहिए। एचडीएफसी लाइफ क्लिक2कनेक्ट सस्ता यूलिप प्लान है। बजाज आलियांज फ्यूचर गेन से निकल जाएं। खुद के लिए एक टर्म प्लान लें और बाकी पैसा म्युचुअल फंड में लगाएं।


उदय धूत ने ये भी बताया कि यूलिप में अपने हिसाब से फंड चुन सकते हैं। परंपरागत इंश्योरेंस प्लान में निवेश एफडी जैसा होता है, जबकि निवेश वाली इंश्योरेंस पॉलिसी काफी महंगी होती है।


सवाल : एलआईसी का एंडोमेंट प्लान खरीदा है जिसमें अभी तक 8 लाख रुपये का निवेश किया है, अगर अभी निकलते हैं तो सिर्फ 4 लाख रुपये की सरेंडर वैल्यू मिलेगी, क्या करना चाहिए?


जवाब : उदय धूत का कहना है कि एलआईसी की पॉलिसी को पेड-अप कराना बेहतर रहेगा, ऐसे में पॉलिसी के निवेश से अभी ना निकलें। अपने लिए अलग से लाइफ कवर खरीदें और लक्ष्य पूरा करने के लिए निवेश करें।


सवाल : मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदना है, कौन सी पॉलिसी खरीदें? एसबीआई आरोग्य पॉलिसी कैसी है?


जवाब : उदय धूत के मुताबिक एसबीआई जनरल की आरोग्य प्लस पॉलिसी में ओपीडी के इलाज का खर्च भी मिलता है। 1-3 लाख रुपये की आरोग्य प्लस पॉलिसी का प्रीमियम 8,900-17,800 रुपये के बीच मुमकिन है। एसबीआई आरोग्य प्लस के बजाए अपोलो म्युनिख ऑप्टिमा रीस्टोर खरीदें।


सवाल : ओरिएंटल से हेल्थ पॉलिसी खरीदी थी, लेकिन पॉलिसी का समय पर रीन्युअल नहीं कर पाए, बाद में कंपनी ने ग्रेस पीरियड में रीन्युअल किया लेकिन नो क्लेम बोनस देना से मना कर दिया, क्या ये सही है?


जवाब : उदय धूत का कहना है कि तय समय के बाद पॉलिसी रीन्यू कराने पर नो क्लेम बोनस नहीं मिलता है। वहीं ज्यादातर कंपनिया ग्रेस पीरियड में रीन्युअल करने पर नो क्लेम बोनस देती हैं।