Moneycontrol » समाचार » निवेश

इन स्कीमों से रहें सावधान, लग सकता हैं तगड़ा चूना

सस्ते घर की खरीद पर टैक्स छूट बढ़ी है। बजट में सस्ते घर के लोन पर टैक्स छूट 1.5 लाख बढ़ाई गई है।
अपडेटेड Jul 16, 2019 पर 13:36  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कहीं आप ठगी का शिकार ना हो जाएं। योर मनी पर पोंजी स्कीम को पहचानने की पाठशाला आयोजित की गई है। परिवारजनों को गिफ्ट में दिए पैसे पर कितना टैक्स देना होगा साथ की होम लोन की EMI के साथ टैक्स सेविंग ELSS में भी निवेश करने के लिए योर मनी से सही रणनीति जानिए।


क्या होती हैं पोंजी स्कीम


पोंजी स्कीम 1920 में मशहूर ठग चार्ल्स पोंजी के नाम से जानी गई। पोस्टल स्टैंप की स्कीम के जरिए चार्ल्स पोंजी ने लोगों को ठगा था। पोंजी स्कीम में लोगों से पैसा जुटा कर ऊंचे ब्याज का दावा करना होता है। पोंजी स्कीमों का बिजनेस मॉडल अक्सर जटिल होता है। ये बहुत ज्यादा रिटर्न की गारंटी देने वाली स्कीमें होती है। ऐसी स्कीमों के लिए रेगुलेटर नहीं होते हैं।


पोंजी स्कीम के मामले


पोंजी स्कीम मामलों पर नजर डालें तो चिट फंड, नोएडा पोंजी स्कीम हालिया उदाहरण है। सारदा चिट फंड मामले में 200-300 करोड रुपये का स्कैम सामने आया था। वहीं IMA पोंजी स्कीम केस में 400 करोड रुपये का स्कैम हुआ था।


पोंजी स्कीमों से रहें सावधान


ध्यान रखें कि पोंजी स्कीमों में गारंटीड रिटर्न का वादा करके ललचाया जाता है। निवेश की राशि ज्यादा होती है। इसका बिजनस मॉडल जटिल होता है जो आसानी से आम आदमी को समझ में नहीं आता। इसमें विदेशी निवेश के विकल्प का भी झांसा भी दिया जाता है। सेल्स अधिकारी को आकर्षक कमीशन दिया जाता है और अक्सर रिस्क फ्री निवेश का दावां किया जाता है। निवेशकों को सलाह है कि बहुत ज्यादा रिटर्न का वादा करने वाली स्कीमों से सावधान रहें। स्कीम की जांच पड़ताल करें और आर्थिक निवेश की बारीकियों को समझें।


आपके प्रश्नों के जवाब और निवेश के बारे में सलाह देने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ के साथ AnandRathi Pvt Wealth Management के Deputy CEO फिरोज अजीज जुडे़ हैं।


सवालः मेरी उम्र 27 साल है। मेरी सालाना आय 6.2 लाख है। टैक्स बचत के लिए कहां निवेश करें? अगले साल घर खरीदना है। बिजनेस के लिए 20 साल में 2 करोड़ रुपये जुटाने हैं। टैक्स बचत के लिए ELSS और  Mirae Asset Tax Saver Fund तथा  Axis Long Term Equity Fund लिया हुआ है।


क्या टैक्स बचत और भविष्य के लिए एक साथ निवेश करना सही है? होम लोन की EMI चालू होने के बाद ELSS से निकल जाना चाहिए। ELSS की हर SIP पर 3 साल का लॉक-इन, तो क्या हमेशा कुछ रकम लॉक-इन ही रहेगी? क्या ULIP में निवेश ELSS से बेहतर है? मेरे चुने हुए फंड्स कैसे हैं?



फिरोज अजीज की सलाहः सस्ते घर की खरीद पर टैक्स छूट बढ़ी है। बजट में सस्ते घर के लोन पर टैक्स छूट 1.5 लाख बढ़ाई गई है। सेक्शन  80EAA के तहत 1.5 लाख की अतिरिक्त छूट मिलती है। 45 लाख तक के घर पर राहत दी गई है।


ELSS और लॉक-इनः ELSS निवेश में 3 साल के लिए लॉक-इन पीरियड होता है। SIP के जरिए निवेश पर हर SIP का 3 साल पूरा होना जरूरी होता है। आंशिक रकम हमेशा लॉक-इन रहेगी। ELSS में 80C के तहत छूट की सीमा तक ही निवेश करें। टैक्स छूट के लिए एकमुश्त निवेश भी कर सकते हैं। 10% LTCG के बावजूद ULIP से बेहतर हैं ELSS। 


सवालः मेरी उम्र 36 साल है। परिवार में एक बेटा है। 30 साल बाद रिटायरमेंट के लिए 1 करोड़ चाहिए। बेटे की पढ़ाई के लिए 10 साल में 30 लाख का इंतजाम करना है। मेरा मौजूदा पोर्टफोलियो इस प्रकार है। Tata Mutual fund - 2000, HDFC Mid Cap Opportunity Fund - 2000, ICICI Prudential Value Discovery Fund - 2000 और  LIC Term Insurance - 15,00,000


फिरोज अजीज की सलाहः आप मौजूदा निवेश से लक्ष्य हासिल कर पाएंगे। 30 साल में रिटायरमेंट के लिए 1 करोड़ जुटा पाएंगे। 10 साल में 30 लाख जुटाने के लिए निवेश बढ़ाना होगा। हर महीने 4,000 का निवेश बढ़ाना होगा। पोर्टफोलियो के सभी फंड्स से निकलने की सलाह दी जा रही है। टॉप 7-8 फंड हाउस से ही फंड लें। फंड के प्रदर्शन की तुलना बेंचमार्क से करें।


HDFC Mid-cap Opp और ICICI Pru Value Discovery का प्रदर्शन सुस्त है। इनकों अपने पोर्टफोलियो में जोड़ें रिटर्न (5 साल ) Reliance Large-cap Fund ने 12.73 प्रतिशत, Mirae Asset Large-cap Fund ने 14.50 प्रतिशत, Kotak Standard Multi-cap Fund ने 15.16 प्रतिशत और Canara Robeco Emerging Equities Fund ने 16.90 प्रतिशत रिटर्न दिया है।