Moneycontrol » समाचार » निवेश

सरकार ने किसान विकास पत्र पर ब्याज घटाया, जानिए कितने साल में डबल होगा पैसा

सरकार ने किसान विकास पत्र का मेच्योरिटी पीरियड एक महीना बढ़ा दिया है। अब यह 9 साल 5 महीने में पूरा होगा।
अपडेटेड Jul 24, 2019 पर 08:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

छोटे निवेशकों की बचत पर लगातार मार पड़ रही है। सरकार ने पहले कई छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर कम कर दिया। उसका असर किसान विकास पत्र यानी (KVP) पर भी पड़ा है। इसके साथ ही सरकार ने किसान विकास पत्र का मेच्योरिटी पीरियड एक महीना बढ़ा दिया है। अब यह 9 साल 5 महीने में पूरा होगा।


1 जुलाई 2019 से किसान विकास पत्र की रकम 9 साल 5 महीना में डबल होगा। पहले यह 9 साल 4 महीने में पूरा हो जाता था। 


सितंबर तिमाही के लिए किसान विकास पत्र का ब्याज दर 7.6 फीसदी कर दिया गया। इससे पहले अप्रैल-जून तिमाही में इसका इंटरेस्ट रेट 7.7 फीसदी था। सरकार हर तिमाही में अपनी छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दर की समीक्षा करती है। 


किसान विकास पत्र में 1000 रुपए से शुरुआती निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। किसान विकास पत्र की तरफ से जो पेपर जारी किए जाते हैं वो 1000, 5000, 10,000 और 50,000 के हो सकते हैं।


किसान विकास पत्र अगर आप खरीदना चाहते हैं तो पोस्टऑफिस से ले सकते हैं। सर्टिफिकेट जारी होने के ढाई साल के बाद उसे भुना सकते हैं।



अगर आप ढाई साल से पहले प्री मेच्योर पैसा निकालना चाहते हैं तो हर 1000 रुपए के निवेश पर आपको सिर्फ 1173 रुपए मिलेंगे। 3 साल के बाद पैसे निकालते हैं तो 1211 रुपए और साढ़े 3 साल के बाद 1251 रुपए मिलेंगे। 9 साल 5 महीने के बाद आप सर्टिफिकेट बेचेंगे तो आपके पैसे डबल हो जाएंगे।