Moneycontrol » समाचार » निवेश

जानिए बिना लक्ष्य के क्यों नहीं करना चाहिए निवेश

आप जहां भी निवेश करना चाहते हैं, वहां आपका लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए कि आप क्यों निवेश कर रहे हैं
अपडेटेड Jan 14, 2020 पर 10:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जितना आप पैसा कमाते हैं, उसकी सेविंग बहुत जरूरी होती है। अगर आपकी सेविंग अच्छी है तो इसका मतलब आप अपने जीवन के लक्ष्य को आसानी से हासिल कर सकते हैं। हमें अपने फाइनेंशियल लक्ष्य को पूरा करने के लिए एक सधी हुई रणनीति के तहत काम करना होगा। इसके लिए हमें सबसे पहले अपने निवेश के लक्ष्य को बनाना होगा। अगर निवेश के लिए लक्ष्य नहीं बनाया तो फिर आपको अपने गोल तक पहुंचने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। आमतौर पर जब भी कोई निवेश करता है तो बेहतर रिटर्न पाने का इच्छा रखता है।


निवेश से पहले अपने लक्ष्य तय करें


अगर आप कहीं पर निवेश कर रहे हैं तो आपका लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए कि आप पैसा क्यों लगा रहे हैं। यानी पैसा लगाने का मकसद आपका साफ होना चाहिए। आप घर खरीदने, प्रॉपर्टी बनाने, शादी, रिटायरमेंट, आदि कई जगह आप निवेश कर सकते हैं। कुल मिलाकर आप जहां भी निवेश करना चाहते हों आपका विजन क्लीयर होना चाहिए। अगर आप बिना लक्ष्य के निवेश करते हैं तो आपका तगड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है।


हमेशा वास्तविक लक्ष्य बनाएं


यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितना बड़ा लक्ष्य निर्धारित करते हैं। आप हमेशा अपनी सैलरी का 80 फीसदी तो नहीं सेविंग कर सकते हैं। इसलिए कोशिश करें कि अधिक से अधिक सेविंग करें। लिहाजा आप हर महीने एक खास अमाउंट अलग जगह रखें। ताकि जरूरत पड़ने पर उस अमाउंट का यूज किया जा सके। इसे आप बिना तकलीफ के हर महीने भी जमा कर सकते हैं।


लॉन्ग टर्म में निवेश करें


आपको लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करना चाहिए। क्योंकि शॉर्ट टर्म में निवेश करने पर आपकी रोजाना की जरूरतें तो पूरी हो सकती है। लेकिन बड़े लक्ष्य हासिल करने के लिए आपको लॉन्ग टर्म में निवेश करना होगा। लॉन्ग टर्म में बेहतर कमाई हो सकती है।
जोखिम लेने की क्षमता हो


कहते हैं कुछ पाना है तो कुछ खोना पड़ता है। ऐसे ही अगर आपको आगे बढ़ना है तो कुछ न कुछ जोखिम तो उठाना ही पड़ेगा। लेकिन जोखिम से अधिक रिटर्न पाने की इच्छा तो बिल्कुल भी नहीं रखनी चाहिए। कम जोखिम वाले प्रोड्क्ट साधारण रिटर्न देते हैं। ऐसे में अपने पोर्ट फोलियों में कुछ ऐसे शेयर रखें जिनमें जोखिम बरकरार रहता हो। आपको म्यूचुअल फंड या स्टॉक मार्केट में इस तरह के निवेश के ऑप्शन आपको मिल सकते हैं।


अगर आपको कभी जरूरत पड़े तो किसी फाइनेंशयल प्रोफेशनल के साथ बैठकर भी निवेश की रणनीति बना सकते हैं। 


अपने निवेश के लक्ष्य को पूरा करने के लिए कभी भी जल्दबाजी नहीं करना चाहिए। पहले पूरा फैसला करें कि कहां निवेश करना है। कितना फंड खर्च होगा। उसमें कितना रिटर्न आएग। ऐसे तमाम बातों पर बारीकी से अध्ययन करें। 


कुल मिलाकर अगर आप एक लक्ष्य के साथ सही दिशा में निवेश करेंगे तो आपको बेहतर रिटर्न मिलने की उम्मीद रहेगी।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।