Moneycontrol » समाचार » निवेश

NPS अब कर सकेंगे शॉर्ट टर्म डेट PSU और ETF फंडों में भी निवेश

PFRDA ने अब ने NPS कॉर्पेरेट डेट फंड्स को उनकी संपत्ति का 10 फीसदी निवेश करने की मंजूरी दे दी है
अपडेटेड Jul 07, 2020 पर 13:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA) ने अब नेशनल पेंशन सिस्टम (National Pension System (NPS) कॉर्पेरेट डेट फंड्स को उनकी संपत्ति का 10 फीसदी निवेश करने की मंजूरी दे दी है। जिसमें 3 साल से कम अवधि के लिए मेच्योरिटी है। उसमें भी निवेश करने की मंजूरी मिल गई है। पहले ये सिर्फ ऊंचे मेच्योरिटी वाले कॉरपोरेट डेट फंड के लिए अनुमति दी गई थी।


पेंशन रेगुलेटरी का ये भी कहना है कि जहां भी आप निवेश कर रहे हैं वहां कम से दो एजेंसियों ने AAA रेटिंग दी हो।


PFRDA ने पेंशन फंड को अपनी संपत्ति का 5 फीसदी PSU सेक्टर की यूनिट डेट ईटीएफ जैसे भारत बॉन्ड में निवेश करने की मंजूरी दी है। भारत बॉन्ड ETFs के दो नए वैरिएंट 14 जुलाई को पब्लिक इश्यू के लिए खुलने वाले हैं।


इसके अलावा पेंशन रेगुलेटरी ने कुछ पेंशन फंड़ों में निवेश करने की मंजूरी दी है। जिसमें उसने 5 से 10 फीसदी तक बढ़ा दिया है।


इसके अलावा PFRDA ने NPS में लिक्विड फंड्स समेत मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स (money market instruments) अधिकतम निवेश सीमा 5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दी है। जो कि कॉर्पोरेट के अलावा NPS के टियर I और टियर II में लागू होगी। NPS tier I को सरकारी बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं, लेकिन केंद्र सरकार या राज्य सरकार की योजना में नहीं होना चाहिए।


ये NPS गाइडलाइन्स में जो ढील दी गई है, उससे NPS मैनेजर को लोअर या हाएर मेच्योरिटी वाले इंस्ट्रूमेंट में जरूरत के मुताबिक निवेश करने का विकल्प मिलेगा। जिससे वो अपने जोखिम को बेहतर तरीके से मैनेज कर सकते हैं। यह बदलाव NPS के तहत आने वाले सभी कॉर्पोरेट बॉन्ड फंड में लागू होगा। चाहे वो केंद्र सरकार के हों या राज्य सरकार या किसी कंपनी से संबंधित हों।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।