Moneycontrol » समाचार » निवेश

PPF अकाउंट में टैक्स छूट का ऐसे उठाएं फायदा

रिटायरमेंट प्लान लेना चाहते हैं तो पीपीएफ अकाउंट सबसे अच्छा विकल्प है
अपडेटेड Apr 17, 2019 पर 10:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

PPF यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड सबसे अच्छे रिटायरमेंट प्लान में से एक है। इसमें एक तरफ गारंटीड रिटर्न मिलता है और दूसरी तरफ टैक्स छूट का भी फायदा मिलता है। 15 साल के लॉकइन वाले इस प्लान में जोखिम नहीं है। हर साल आप मैक्सिमम 1.5 लाख रुपए निवेश करके 8 फीसदी रिटर्न हासिल कर सकते हैं। इसमें कंपाउंड इंटरेस्ट जुड़ता है जो हर फाइनेंशियल ईयर के अंत में आपके खाते में आ जाता है। इस स्कीम में EEE टैक्स बेनेफिट मिलता है। EEE के मायने हैं जब आप PPF में पैसा निवेश करते हैं तो उस रकम पर 80C के तहत टैक्स छूट मिलती है। उससे मिलने वाले इंटरेस्ट पर भी टैक्स नहीं लगता है। साथ ही मेच्योरिटी पर जो रकम मिलती है उस पर भी कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ता है।


कैसे खोलें PPF अकाउंट


आप सिर्फ 500 रुपए निवेश करके भी PPF अकाउंट खोल सकते हैं। ICICI और HDFC बैंक जैसे कुछ बड़े प्राइवेट बैंक भी PPF की सुविधा देते हैं। PPF अकाउंट खुलवाने के लिए एक आईडी प्रूफ, एक एड्रेस प्रूफ और एक फोटो की जरूरत होगी। इसके लिए आप वोटर आईडी, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस और आधार कार्ड दे सकते हैं। साथ ही आपको एक फॉर्म नॉमिनी के लिए भरना पड़ता है। इसके बाद 500 रुपए के साथ आप PPF अकाउंट खुलवा सकते हैं।


निवेश करने का बेस्ट टाइम


जानकारों का कहना है कि PPF में निवेश करने का सबसे अच्छा वक्त 5 तारीख या इससे पहले का वक्त होता है। फिलहाल हर महीने की 5 तारीख को खाते की रकम पर 8 फीसदी ब्याज मिलता है। यानी अगर आप 5 तारीख को निवेश करते हैं तो आपको ज्यादा ब्याज का फायदा मिलेगा।


कब होगी आंशिक निकासी


PPF अकाउंट में 15 साल का लॉक-इन पीरियड होता है। लेकिन 7 साल पूरा होने के बाद आप कुछ रकम निकाल सकते हैं। यह रकम चौथे फाइनेंशियल ईयर के अंत में खाते में मौजूद रकम का 50 फीसदी तक हो सकता है।


इसके अलावा आप PPF अकाउंट पर लोन भी ले सकते हैं। अकाउंट खुलवाने के तीसरे फाइनेंशियल ईयर से लेकर पांचवें फाइनेंशियल ईयर के अंत तक लोन ले सकते हैं। लोन की रकम PPF अकाउंट का 25 फीसदी तक हो सकता है। अगर आप PPF अकाउंट पर लोन लेते हैं तो आपको जो ब्याज मिलता है उससे 2 फीसदी ज्यादा ब्याज चुकाना होगा।


हर साल पैसा जमा करना जरूरी


अगर आप किसी साल PPF अकाउंट में पैसा नहीं डाल पाते तो वह अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है। इसे एक्टिव करने के लिए आपको लिखित आवेदन देना होगा। साथ ही 50 रुपए की पेनाल्टी के साथ 500 रुपए भी जमा कराना होगा।