Moneycontrol » समाचार » निवेश

CPSE ETF का सातवां चरण खुला, जानें कैसा रहा CPSE ETF का अब तक का परफॉर्मेंस

CPSE ETF को निप्पॉन लाइफ इंडिया एसेट मैनेजमेंट मैनेज कर रही है।
अपडेटेड Feb 01, 2020 पर 13:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

CPSE एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (CPSE) का सातवां चरण खुल गया है और इसके जरिए सरकार की योजना 10 हजार करोड़ रुपये जुटाने की है। 30 जनवरी को यह एंकर इन्वेस्टर्स के लिए और 31 जनवरी को इंस्टीट्यूशनल और रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए खुलेगा। CPSE ETF में 12 बड़ी सरकारी कंपनियों में निवेश करने का मौका होगा। पिछले 6 चरण की बात करें तो निवेशकों का मिला जुला रिस्पांस रहा है। अगर आप भी इसमें निवेश करने की सोच रहे हैं तो पहले इसका प्रदर्शन जरूर देखें।


CPSE ETF को निप्पॉन लाइफ इंडिया एसेट मैनेजमेंट मैनेज कर रही है। सरकार ने पिछले 2 चरण में CPSE ETF को मिले मजबूत रिस्पांस की वजह से इसके 7वें चरण को लांच करने की योजना बनाई है। CPSE ETF का सातवां चरण 12 PSU कंपनियों में निवेश का मौका देगा। क्या पुरानी परफॉर्मेंस देखकर निवेश करना चाहिए। फंड का चयन कैसे करें इस पर योर मनी पर subramoney.com के CEO पीवी सुब्रमण्यम के साथ चर्चा करेंगे।


CPSE ETF का 7वां चरण


इसके तहत सरकार की 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। 12 बड़ी सरकारी कंपनियों में निवेश का मौका मिलेगा। इसमें निवेशकों को 3 प्रतिशत का डिस्काउंट मिलेगा। इसमें अधिकतर एनर्जी और पावर सेक्टर की कंपनियां हैं। Nippon Life India AMC मैनेज कर रही है। पिछले 6 चरणों में 49,500 करोड़ जमा हुआ है। मार्च 2014 में पहले चरण से 3000 करोड़ रुपये जमा हुए। जनवरी 2017 में दूसरे चरण से 6,000 करोड़ रुपये जमा हुए जबकि मार्च 2017 में तीसरे चरण से 2,500 करोड़ रुपये जमा हुए। वहीं नवंबर 2018 में चौथे चरण से 17,000 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। मार्च 2019 में पांचवें चरण से 10,000 करोड़ रुपये जुटे थे। वहीं 2019 में छठें चरण से 11,500 करोड़ जमा हुए थे।


CPSE ETF में सरकारी हिस्सेदारी


NTPC - 56 प्रतिशत


Coal India - 70.96 प्रतिशत


ONGC - 64.25 प्रतिशत


IOC - 52.18 प्रतिशत


PFC - 59.05 प्रतिशत


BEL - 58.83 प्रतिशत


Oil India - 61.61 प्रतिशत


NBCC - 68.18 प्रतिशत


NLC India - 81.91 प्रतिशत


SJVN - 88.78 प्रतिशत


क्या करें निवेशक


PSU निवेश के लिए सही विकल्प है। यदि मंहगे स्टॉक ना खरीदें हों तो इसमें निवेश करें। इसके डिविडेंड यील्ड का फायदा ले। बाजार की समझ ना रखने पर निवेश करें। ETF रेगुलर फंड के मुकाबले यह ज्यादा किफायती होता है।


CPSE ETF का रिटर्न


1 साल -  7.19 प्रतिशत का निगेटिव रिटर्न


3 साल -  22.32 प्रतिशत का निगेटिव रिटर्न


5 साल -  14.13 प्रतिशत का निगेटिव रिटर्न


SBI फंड का रिटर्न


1 साल -  13.51 प्रतिशत


3 साल - -8.71 प्रतिशत का निगेटिव रिटर्न


5 साल - 2.36 प्रतिशत


एक्सपेंस रेश्यो - 2.1 प्रतिशत


Invesco India PSU फंड का रिटर्न


1 साल -  22.74 प्रतिशत


3 साल - 3.55 प्रतिशत


5 साल - 6.86 प्रतिशत


एक्सपेंस रेश्यो - 1.69 प्रतिशत


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।