Moneycontrol » समाचार » निवेश

साइबर क्राइम का बढ़ता मामला, कैसे बचें फ्रॉड से

प्रकाशित Sat, 10, 2018 पर 16:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

साइबर क्राइम के हादसे लगातार बढ़ते जा रहे है। सरकारी आकंड़ो के मुताबिक दिसबंर 2017 तक देश भर में साइबर क्राइम को लेकर 25817 मामले दर्ज हो चुके है। आरबीआई और फाइनेंस मिनिस्ट्ररी के जरिए जारी किए गए रिपॉर्ट में 2014-217 तक 251 करोड़ के फ्रॉड हुआ है जिसमें क्रेडिट कार्ड फ्रॉड 130 करोड़ रुपये, एटीएम फ्रॉड में 91 करोड़ रुपये और इंटरनेट बैंकिंग फ्रॉड के 30 करोड़ रुपये हुए है। अब सवाल यह उठता है कि आप अपने पैसे की सुरक्षा कैसे करें इस पर बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद है ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के पंकज मठवाल।


पंकज मठवाल का कहना है कि साइबर क्राइम से बचने के लिए सेफ पॉलिसी खरीदें। बजाज आलियांज की साइबर सेफ पॉलिसी, साइबर क्राइम से बचने के लिए है। यह ऑनलाइन धोखाधड़ी से होने वाले नुकसान का कवर करती है और साइबर स्टॉकिंग, मालवेयर अटैक से होने वाले नुकसान शामिल है। ई-मेल फिशिंग और डाटा रिकवरी का खर्चा भी देती है। 1 लाख से 1 करोड़ तक का कवरेज है। थर्ड पार्टी सर्विस और डाटा चोरी का भी कवर शामिल है।


ठगी से बचने के लिए प्रतिष्ठित वेबसाइट से शॉपिंग करें। सस्ते के चक्कर में ना फंसे। एचटीटीपीएस वाली वेबसाइट से ही क्रेडिट या डेबिट कार्ड भुगतान करें। कभी भी अपना कार्ड नंबर, सीवीवी नंबर ना शेयर करें और कोई ओटीपी मांगे तो ना दें। 2 स्टेप ऑथेंटिकेशन सिस्टम ऑन रखें। अपना पर्सनल डेटा किसी से शेयर ना करें। धोखाधड़ी हो जाए तो तुरंत रिपोर्ट करें। अपना पासवर्ड/पिन बदलते रहें।नेट बैंकिंग साइबर कैफे से ना करें।