Moneycontrol » समाचार » निवेश

महिला निवेशकों के बीच पहुंचा पहला कदम का काफिला

प्रकाशित Sat, 29, 2018 पर 16:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पहला कदम सीजन-4 के इस एपिसोड में आपका स्वागत हैं। पिछले एपिसोड में हमने चर्चा शुरू की थी अलग-अलग एसेट क्लास पर। आज हम बात करने जा रहे हैं एसेट क्लास के तौर पर म्यूचुअल फंड के क्या फायदे हैं। बतौर एक्सपर्ट हमारे साथ हैं एक्सिस सिक्योरिटीज के एमडी एंड सीईओ अरुण ठुकराल और एसबीआई म्युचुअल फंड मैनेजर सोहिनी अंदानी और सीएनबीसी-आवाज़ के हमारे सहयोगी प्रदीप पंड्या। हमारे कार्यक्रम से जुड़े मुद्दों पर अगर आपके जेहन में कोई सवाल है तो आप हमें हमारे फेसबुक पेज, ट्विटर हैंडल और पहला कदम की वेबसाइट पर जाकर हम तक पहुंचा सकते हैं।


जानकारों का मानना है कि महिला निवेशको में निवेश को लेकर जागरुकता अधिक है क्योंकि इनमें बचत की अच्छी आदत होती है। मौजूदा समय में फाइनेशिंयल सेक्टर में महिला निवेशक आगे बढ़ रही है। महिला निवेशकों को एक सलाह होगी कि वह निवेश करते समय अपने लक्ष्य को ध्यान में रख निवेश करें ताकि उनके निवेश में उनको नुकसान ना हो। नुकसान से बचने के लिए महिला जिस कंपनी में निवेश करना चाहती है वह कंपनी को पहले अच्छे से समझ लें। 


निवेश करने से पहले महिलाएं ध्यान रखें कि कंपनी की ग्रोथ किस प्रकार है। भारत में निवेश का अच्छा माहौल बन रहा है इसलिए कंपनी का मुनाफा देखकर निवेश करें। कम कैपिटल से ज्यादा ग्रोथ मिलना जरुरी है।