Moneycontrol » समाचार » निवेश

एक्रुअल फंड और ड्यूरेशन फंड, क्या है बेहतर

प्रकाशित Sat, 15, 2018 पर 15:38  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश से जुडा जोखिम समझना बेहद जरूरी है। एक समझदार निवेश वही होता है, जो निवेश विकल्प के जोखिम के भापकर लक्ष्य बांधता है और निवेश रणनीति बनाता है। आज योर मनी का फोकस होगा डेट निवेश में जेखिम पर, जिसमें हमारा साथ देने के लिए मौजूद हैं आनंदराठी वेल्थ मैनेजमेंट के सीईओ फिरोज अजीज।


सवालः एक्रुअल फंड और ड्यूरेशन फंड समझना चाहते है। ड्यूरेशन फंड में निवेश बेहतर या एक्रुअल डेट फंड चुनें? अच्छे एक्रुअल डेट फंड का सुझाव दें?


फिरोर अजीजः पोर्टफोलियो में डेट निवेश होना अहम है। डेट निवेश विकल्पों से पोर्टफोलियों में स्थिरता बनी हुई है। डेट निवेश विकल्पो में पक्का रिटर्न मिलता है। एक्रुअल फंड में ड्यूरेशन फंड से बेहतर स्थिरता रहती है। एक्रुअल फंड में ड्यूरेशन फंड के मुकाबले उतार-चढ़ाव कम होता है। एक्रुअल फंड में 7.5-8 फीसदी का रिटर्न मिलता है।  ड्यूरेशन फंड ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव पर रिटर्न निर्भऱ करता है।