योर मनीः बढ़ी ब्याज दरों का क्या होगा असर -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः बढ़ी ब्याज दरों का क्या होगा असर

प्रकाशित Sat, 04, 2018 पर 16:38  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रिजर्व बैंक को महंगाई की चिंता सताने लगी है। इसी चिंता में उसने लगातार दूसरी बार दरों में बढ़ोतरी की है। आरबीआई ने रेपो रेट 0.25 फीसदी बढ़ाकर 6.5 फीसदी कर दिया है। रिवर्स रेपो रेट में भी 0.25 फीसदी की बढ़त हुई है और अब ये 6.25 फीसदी हो गई है। आरबीआई के मुताबिक अप्रैल-सितंबर में जीडीपी ग्रोथ 7.5-7.6 फीसदी रहने के आसार है, जबकि इस कारोबारी साल के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान 7.4 फीसदी पर बरकरार रखा है।


रिजर्व बैंक ने जुलाई-सितंबर के बीच महंगाई दर 4.2 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है, जबकि अक्टूबर-मार्च के बीच ये बढ़कर 4.75 फीसदी हो सकती है। लेकिन इन सब का सीधा सा मतलब अगर हमें सझना हो तो क्या होगा?


दरों में बढ़ोतरी से होमलोन महंगा हुआ है। अगर 20 साल के लिए 20 लाख रुपये का कर्ज है तो उसकी ईएमआई 8.5 फीसदी के हिसाब से 17356 रुपये होते थें, लेकिन दरों में बढ़ोतरी के बाद अब वहीं रकम में 318 रुपये प्रति महीने का नुकसान होगा।


वहीं ऑटो लोन के लिए 5 साल के लिए 5 लाख रुपये में 9.3 फीसदी के हिसाब से 10452 रुपये होते थें, लेकिन दरों में बढ़त के बाद 9.55 फीसदी ब्याज दरों के लिहाज से 61 रुपये प्रति महीने का नुकसान उठाना पड़ेगा जबकि पर्सनल लोन के लिए अब 14.25 फीसदी के ब्याज दर के हिसाब से 37 रुपये प्रति महीने का नुकसान होगा।