Moneycontrol » समाचार » आईपीओ

India Pesticides और KIMS के IPO को मिली मंजूरी, जानें किस दिन आएंगे दोनों कंपनियों के पब्लिक इश्यू

बाजार नियामक सेबी ने KIMS और India Pesticides के IPO को मंजूरी दे दी है, दोनों कंपनियों ने फरवरी, 2021 में IPO लॉन्च करने के लिए आवेदन किया था
अपडेटेड May 07, 2021 पर 20:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इस साल अब तक 16 कंपनियां IPO रूट के जरिये भारतीय शेयर बाजारों में लिस्ट हो चुकी हैं। इस कड़ी में जल्द ही एग्रोकेमिकल्स मैन्युफैक्चरिंग करने वाली कंपनी इंडिया पेस्टीसाइड्स (India Pesticides) और हेल्थकेयर ग्रुप कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (KIMS) का नाम जुड़ने वाला है। दोनों कंपनियां जल्द ही दलाल स्ट्रीट पर दस्तक दे सकती हैं।

बाजार नियामक सेबी (SEBI) ने KIMS और India Pesticides के IPO को अपनी मंजूरी दे दी है। इन दोनों कंपनियों ने फरवरी, 2021 में IPO लॉन्च करने के लिए सेबी के पास आवेदन किया था। आपको बता दें कि इस साल डेढ़ दर्जन से अधिक कंपनियां पब्लिक इश्यू के जरिये प्राइमरी मार्केट से फंड जुटाने और स्टॉक मार्केट में लिस्ट होने की तैयारी में है।

India Pesticides के IPO की खास बातें

एग्रोकेमिकल्स कंपनी India Pesticides अपने IPO के जरिये प्राइमरी मार्केट से 800 करोड़ रुपये जुटाएगी। इस आईपीओ के लिए कंपनी 100 करोड़ रुपये का फ्रेश शेयर जारी करेगी और कंपनी के मौजूदा निवेशक ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये 700 करोड़ रुपये के शेयर जारी करेंगे। कंपनी 75 करोड़ रुपये का Pre-IPO प्लेसमेंट ला सकती है।

India Pesticides के प्रमोटर आनंद स्वरूप अग्रवाल इस IPO में 281.4 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर जारी करेंगे। कंपनी इस IPO में जारी फ्रेश शेयर से जुटाये गए फंड का इस्तेमाल अपने वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने में करेगी। आपको बता दें कि इंडिया पेस्टीसाइड्स Folpet और Thiocarbamate Herbicide केमिकल का उत्पादन करने वाली दुनिया की 5 टॉप कंपनियों में शामिल है।

KIMS के IPO की खास बातें

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सबसे बड़ी कॉर्पोरेट हेल्थकेयर ग्रुप कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (Krishna Institute of Medical Sciences- KIMS) भी फंड जुटाने के लिए IPO लाने की तैयारी में है। KIMS इस IPO के लिए 200 करोड़ रुपये का फ्रेश शेयर जारी करेगी और 2,13,40,000 इक्विटी शेयर कंपनी के प्रमोटर्स ओर मौजूदा इंवेस्टर ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये जारी करेंगे।

इस IPO के लिए KIMS में निवेश करने वाली कंपनी जनरल एटलांटिक सिंगापुर (General Atlantic Singapore KH PTE Ltd) 1,38,80,000 शेयर जारी करेगी। वहीं, कंपनी के प्रमोटर भाष्कर राव बोल्लिनेनी (Bhaskara Rao Bollineni) 7.7 लाख शेयर बेचेंगे। इसके अलावा कंपनी की दूसरी प्रमोटर राज्यश्री बोल्लिनेनी (Rajyasri Bollineni) 11.6 लाख शेयर जारी करेंगी।

यहां होगा फंड का इस्तेमाल

इस IPO के जरिये जुटाये गए फंड का इस्तेमाल अपना कर्ज उतारने और सामान्य कॉर्पोरेट खर्च को पूरा करने में करेगी। 150 करोड़ रुपये से KIMS अपना और अपनी सहयोगी कंपनियों KHKPL, SIMSPL, KHEPL का कर्ज चुकाएगी। इस IPO के लिए KIMS ने कोटक इंवेस्टमेंट बैंक, एक्सिस कैपिटल, Credit Suisse और IIFL Securities को अपना लीड मैनेजर नियुक्त किया है।

कंपनी की खास बातें

पेशेंट के ट्रीटमेंट के मामले में KIMS आंध्रप्रदेश और तेलंगाना का सबसे बड़ा कॉर्पोरेट हेल्थकेयर ग्रुप है। KIMS Hositals ब्रांड के बैनर तले 9 मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल हैं, जिनमें कुल बेड क्षमता 3,064 है जिनमें 2500 बेड ऑपरेशनल हैं।

वित्त वर्ष 2020-21 की दिसंबर तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 71.40 करोड़ रुपये था, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह 856.38 करोड़ रुपये था। दिसंबर तिमाही में कंपनी की नेट प्रॉफिट 145 करोड़ रुपये रहा,  जबकि एक साल पहले यह केवल 86.38 करोड़ रुपये था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।