Moneycontrol » समाचार » आईपीओ

New IPOs: Shriram और Puranik डेवलपर्स दोबारा IPO के लिए करेंगे आवेदन, V-Marc लाएगी 30 करोड़ का SME IPO

वर्ष 2020 से अब तक IPOs को मिले शानदार रिस्पॉन्स को देखते हुए इस साल देश में IPOs की झड़ी लगने वाली है, बड़ी कंपनियों के साथ छोटी कंपनियां भी IPO के लिए SEBI के पास आवेदन कर रही हैं
अपडेटेड Feb 21, 2021 पर 12:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वर्ष 2020 से अब तक IPOs को मिले शानदार रिस्पॉन्स को देखते हुए इस साल देश में IPOs की झड़ी लगने वाली है। बड़ी कंपनियों के साथ अब छोटी कंपनियां भी अपने IPO के लिए मार्केट रेगुलेटर SEBI के पास आवेदन कर रही हैं। IPO के इस रेस में अब रियल एस्टेट कंपनियां भी कूद पड़ी है। मैक्रोटेक डेवलपर्स (Macrotech Developers) जिसे पहले लोढ़ा डेवलपर्स (Lodha Developers) के नाम से जाना जाता था, उसके द्वारा SEBI के पास IPO लॉन्च करने लिए फाइल किए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस (DRHP) के बाद अब बेंगलुरु बेस्ड श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड (Shriram Properties) और मुंबई बेस्ड पुराणिक बिल्डर्स (Puranik Builders) भी अपने IPO को लिए दोबारा आवेदन करने की तैयारी में है।

इनके अलावा वायर और केबल मैन्युफैक्चर करने वाली कंपनी वी मार्क इंडिया (V-Marc India) ने भी 30 करोड़ रुपये जुटाने के लिए SEBI के पास SME IPO के लिए आवेदन किया है। कंपनी की योजना अपने स्टॉक्स को नेशनल स्टॉक एक्सचेंड के इमर्ज प्लेटफॉर्म NSE Emerge पर लिस्ट कराने की है। कंपनी इस SME IPO के लिए 10 रुपये फेस वैल्यू वाले 68,40,000 इक्विटी शेयर जारी करेगी। हरिद्वार स्थित यह कंपनी इस IPO के जरिये 25 से 30 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है। इसके लिए कंपनी 8,40,000 इक्विटी शेयर प्राइवेट प्लेसमेंट के लिए जारी कर सकती है। कंपनी ने इस IPO के लिए Pantomath Capital को लीड मैनेजर नियुक्त किया है।

V-Marc India यहां करेगी फंड का इस्तेमाल

कंपनी इस IPO से जुटाये फंड में से 15 करोड़ रुपये का इस्तेमाल रुड़की में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए कैपिटल एक्सपेंडिचर पर करेगी। साथ ही 5 करोड़ रुपये का इस्तेमाल सामान्य कॉर्पोरेट जरूरतों को पूरा करने में होगा। कंपनी V-MARC ब्रांड नेम से पिछले 15 साल से BIS और CE सर्टिफाइड वायर और केबल बेच रही है। हरिद्वार में कंपनी की दो मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स हैं। कंपनी के डीलर्स की संख्या देशभर में 600 से अधिक है। V-Marc India को FY20 में ऑपरेशंस से 171.4 करोड़ रुपये का रेवेन्यू प्राप्त हुआ था और टैक्स चुकाने के बाद कंपनी को 4.64 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ था।

श्रीराम प्रॉपर्टीज और पुराणिक बिल्डर्स पहले भी कर चुके हैं आवेदन

आपको बता दें कि श्रीराम प्रॉपर्टीज और पुराणिक बिल्डर्स, दोनों रियल एस्टेट एंड अफोर्डेबल हाउसिंग कंपनियां SEBI के पास पहले भी IPO के लिए आवेदन कर चुकी हैं और इन्हें रेगुलेटरी परमिशन भी मिल चुकी है। लेकिन रियल एस्टेट सेक्टर में आई गिरावट, लिक्विडीटी की कमी और कोरोना वायरस महामारी के कारण ये दोनों कंपनियां अपना IPO नहीं ला सकीं। लेकिन अब लोढ़ा डेवलपर्स द्वारा IPO के लिए DRHP फाइल करने के बाद ये दोनों कंपनियां भी IPO लॉन्च करने की तैयारी में जुच गई हैं। Shriram Properties को IPO के लिए 2019 में मंजूरी मिली थी, जबकि Puranik Builders का IPO इस साल मार्च तक के लिए वैलिड है। लेकिन अगर कंपनी मार्च तक IPO नहीं ला पाती है तो वह इसके लिए मार्च में ही दोबारा आवेदन करेगी।

Shriram Properties इतने करोड़ का IPO लॉन्च करेगी

बेंगलुरु स्थित Shriram Properties पहले IPO के जरिये 1250 करोड़ रुपये जुटाना चाहती थी, लेकिन कंपनी ने इसे कम करके अब 750 करोड़ रुपये कर दिया है। कंपनी अपने IPO के बारे में अगले सप्ताह फैसला लेगी। कंपनी को उम्मीद है कि उसे IPO लॉन्च करने की मंजूरी आसानी से मिल जाएगी, क्योंकि उसे ड्राफ्ट पेपर में मामूली बदलाव करने हैं। दिसंबर तिमाही में कंपनी से Sales प्री-कोविड लेवल पर पहुंच गए हैं और कंपनी इस साल बेंगलुरु और चेन्नई में कई प्रोजेक्ट्स लॉन्च करेगी।

Puranik Builders 900 करोड़ रुपये जुटाएगी

पुराणिक बिल्डर्स की योजना इस IPO के जरिये 900 करोड़ रुपये जुटाने की है। कंपनी अगर मार्च तक IPO लॉन्च नहीं कर पाता है तो वह फिर से इसके लिए आवेदन करेगी। 2020 में कंपनी कोरोना वायरस महामारी के कारण अपना पब्लिक इश्यू नहीं ला पाई थी। आपको बता दें कि Macrotech Developers यानी लोढ़ा डेवलपर्स अपने IPO के जरिये 2500 करोड़ रुपये जुटाने के लक्ष्य को लेकर चल रही है। 

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।