Moneycontrol » समाचार » आईपीओ

इंफ्रा सेक्टर की एक और कंपनी IPO लाने की रेस में, G R Infraprojects ने IPO के लिए SEBI के पास जमा कराये ड्राफ्ट पेपर्स

G R Infraprojects ने वर्ष 2018 में भी 1800 करोड़ रुपये के IPO के लिए SEBI के पास ड्राफ्ट पेपर जमा कराये थे
अपडेटेड Apr 14, 2021 पर 09:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्राइमरी मार्केट से फंड जुटाने की रेस में एक और इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी शामिल हो गई है। जी आर इंफ्राप्रोजेक्ट्स लिमिटेड (G R Infraprojects Ltd- GRIL) ने IPO लॉन्च करने के लिए आज मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) के पास आवेदन किया है। इससे पहले कंपनी ने वर्ष 2018 में भी 1800 करोड़ रुपये के IPO के लिए SEBI के पास ड्राफ्ट पेपर जमा कराये थे।

SEBI के पास जमा कराये ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस (DRHP) में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने वाली कंपनी GRIL ने बताया है कि वह इस IPO में ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये 5 रुपये फेस वैल्यू वाले 1.15 करोड़ इक्विटी शेयर जारी करेगी। ये शेयर कंपनी के प्रमोटर्स और मौजूदा इंवेस्टर्स जारी करेंगे। कंपनी इस पब्लिक इश्यू के लिए कोई फ्रेश शेयर इश्यू नहीं करेगी।

फ्रेश शेयर इश्यू नहीं होने की वजह से कंपनी को इस IPO के जरिये जुटाये गए फंड्स में से कोई हिस्सा नहीं मिलेगा। यह पहली बार नहीं है जब GRIL ने IPO के लिए SEBI का दरवाजा खटखटाया है। आपको बता दे कि GRIL में कंपनी के प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 88.04% है। वहीं कंपनी के अन्य निवेशकों को पास 11.96% हिस्सेदारी है।

इस IPO लिए GR Infraprojects के प्रमोटर लोकेश बिल्डर्स प्राइवेट लिमिटेड 11.42 लाख शेयर जारी करेगी। इससे कंपनी में लोकेश बिल्डर्स की हिस्सेदारी 33% कम हो जाएगी। इसके अलावा प्रमोटर ग्रुप Jasamrit Premises, Jasamrit Fashions आदि कुल 3.07 लाख शेयर बेचेंगे।

इस IPO के जरिये GRIL से इंडिया बिजनेस एक्सीलेंस फंड और इंडिया बिजनेस एक्सीलेंस फंड 1 एग्जिट कर जाएंगे। यानी ये दोनों फंड्स अपनी पूरी हिस्सेदारी 95.73 लाख शेयर इस IPO में बेच देंगे। इनके अलावा कंपनी के इंवेस्टर प्रदाप अग्रवाल भी अपने 5 लाख इक्विटी शेयर में से कुछ शेयर बेचेंगे।

इस IPO के लिए GRIL ने HDFC Bank, ICICI Securities और कोटक महिंद्रा कैपिटल को अपना लीड मैनेजर नियुक्त किया है। इस IPO में कुछ शेयर कंपनी के कर्मचारियों को लिए भी आरक्षित रहेंगे। कंपनी के कर्मचारियों को डिस्काउंट पर शेयर जारी किए जाएंगे।

ऐसा है कंपनी का बैलेंसशीट

G R Infraprojects देश की बड़ी इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनियों में से एक है। वित्त वर्ष 2018 में कंपनी का नेट प्रॉफिट 412 करोड़ रुपये रहा था जो मार्च, 2020 को खत्म फाइनेंशियल ईयर में बढ़कर 799 करोड़ रुपये हो गया। वहीं, वर्ष 2020 के दिसंबर तक यानी 9 महीने में कंपनी का नेट प्रॉफिट 702 करोड़ रुपये रहा।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।