Moneycontrol » समाचार » कर्ज

पर्सनल लोन लेना है? जानिए कैसे चुनें सबसे बेहतर विकल्प

अपने लिए सही पर्सनल लोन चुनने के लिए आपको कुछ बातें जरूर पता होनी चाहिए।
अपडेटेड Jul 15, 2019 पर 13:32  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अचानक से आई पैसों की जरूरत के लिए अब पर्सनल लोन लेने को लेकर लोगों में स्वीकार्यता बढ़ी है। अब लोग अपनी जरूरतों के लिए पर्सनल लोन लेने में नहीं हिचकिचाते। पर्सनल लोन लेना अब इतना आसान भी तो हो गया है। अब पैसा 24 घंटे के अंदर आपके हाथ में होता है। पर्सनल लोन को लेकर आपके ऊपर कोई सीमा भी नहीं होती लेकिन इन सारी चीजों के लिए आपका अपने लिए सही पर्सनल लोन चुनना बहुत जरूरी है।


अपने लिए सही पर्सनल लोन चुनने के लिए आपको कुछ बातें जरूर पता होनी चाहिए।


आसान हो एलिजिबिलटी क्राइटेरिया


हमेशा ऐसा लेंडर चुनना चाहिए जिसने लोन लेने की शर्तें या योग्यता आसान रखी हों। यानी कि क्राइटेरिया ईजी टू मीट होना चाहिए। इससे फंड लेना आसान होता है और वेरिफिकेशन और अप्रूवल प्रोसेस भी जल्दी पूरा हो जाता है।


इंटरेस्ट रेट के आधार पर तुलना कर लें


अगर लोन लेना ही है तो बाजार में इंटरेस्ट रेट क्या चल रहा है, ये तो पता करना ही चाहिए। लेंडर्स आपके क्रेडिट स्कोर और रीपेमेंट करने की क्षमता के हिसाब से तय करते हैं कि आपको लोन मिलेगा या नहीं या कितने अमाउंट तक का लोन मिलेगा। इसलिए बाजार में मौजूद विकल्पों की तुलना करना सही है। इससे पता चलेगा कि आपकी क्षमता के हिसाब से आपको कहां बेहतर इंटरेस्ट मिल रहा है।


एडिशनल फीस और चार्ज क्या है


इंटरेस्ट रेट के अलावा ये भी पता करना जरूरी है कि आपसे इसके अलावा किस तरह का अतिरिक्त चार्ज या फीस ली जाएगी। एडिशनल फीस आपके लेंडर पर निर्भर करती है। ऐसा नहीं होना चाहिए कि आप इंटरेस्ट रेट तो चुकाएं ही, उसके अलावा आपकी बड़ी रकम अतिरिक्त फीस और चार्ज चुकाने में ही चली जाए।


रीपेमेंट की सुविधा क्या है


लोन के लिए अप्लाई करने से पहले ये जरूर पता कर लें कि रीपेमेंट को लेकर आपका लेंडर कितना लचीला है। आपका रीपेमेंट टेनर फ्लेक्सिबल होना चाहिए, जिससे आपको अपनी सुविधा के हिसाब से ईएमआई चुकाने का वक्त मिलेगा और डिफॉल्ट होने का डर भी नहीं रहेगा।


अगर इन सारी बातों को ध्यान रखा जाए तो आपको अपने लिए बेस्ट पर्सनल लोन चुनने में मदद मिलेगी और आपको लोन आपके लिए बोझ नहीं बनेगा।