Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

100 रुपये किलो के करीब पहुंची प्याज की कीमत, एक्शन में सरकार

उपभोक्ता मंत्रालय ने प्याज के इम्पोर्ट को बढ़ावा देने का फैसला किया है।
अपडेटेड Nov 06, 2019 पर 13:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्याज के आंसू एक फिर से आम आदमी बहा रहे हैं। प्याज का तड़का काफी महंगा हो गया है। कुछ राज्यों में प्याज की रिटेल कीमतें 90 रुपये प्रति किलो पहुंच गई हैं। जो कि कीमतें आसमान छूती नजर आ रही हैं।


अगस्त और सितंबर महीने में प्याज की कीमतें 80 रुपये प्रति किलो पहुंच गई थी। प्याज की आवक कम होने से फिर से कीमतों में तगड़ा उछाल देखा जा रहा है।


एक रिपोर्ट्स के मुताबिक,  लासलगांव होलसेल मार्केट में प्याज की होलसेल प्राइस 55.50 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है। यह 4 चार साल के सबसे बड़े लेवल पर है। इससे पहले अगस्त की शुरुआत में इसकी कीमत 13 रुपये थी। रिटेल में प्याज की कीमत 20 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 80 रुपये हो चुकी है। व्यापारियों ने कीमतों में और बढ़ोतरी होने की आशंका व्यक्त की है क्योंकि नवंबर महीने में बारिश से फसल को नुकसान हुआ है।


इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट ने संकेत दिया है कि भारी बारिश की वजह से नासिक, अहमदनगर और पुणे में प्याज की फसल को काफी नुकसान हुआ है। 


पिछले महीने पूरे देश में प्याज की कीमतों में गिरावट आ गई थी, लेकिन अब ऐसा लगता है कि अगर ग्राहकों को प्याज खाना है तो अधिक पैसे देने पड़ेंगे। देश भर में प्याज की कीमतें 60-90 रुपये प्रति किलो के दायरे में बिक रही हैं।


कुछ किसानों ने भारी बारिश की वजह से फसल के नुकसान पर चिंता व्यक्त की है। ज्यादातर किसान अपना पुराना स्टॉक ही बेच रहे हैं। नया बारिश की वजह से खराब हो गया है। लिहाजा प्याज उत्पादक किसानों का कहना है कि प्यजा के पुराने स्टॉक की कीमत अधिक होगी। वैसे भी पिछले साल प्याज का उत्पादन कम हुआ था। 


प्याज की कीमतों में तेजी से इजाफा हो रहा है। तेजी से बढ़ रहे दाम की वजह से इसकी कीमत 100 रुपये किलो तक पहुंच सकती है। होल सेल मार्केट में पिछले 3 महीनों के दौरान प्याज की कीमतों में 4 गुना बढ़ोतरी दर्ज की गई है।


उधर कीमतें आसमान छूने पर सरकार भी एक्शन में आ गई है। उपभोक्ता मंत्रालय ने प्याज के इम्पोर्ट को बढ़ावा देने का फैसला किया है। ऐसे में प्याज की कीमतों में आने वाले दिनों लगाम कसने की उम्मीद जताई जा रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।