Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पहली तिमाही में सरकारी बैंकों के साथ 32,000 करोड़ रुपये की हुई धोखाधड़ी

देश के सबसे बड़े बैंक SBI के साथ 12,012.77 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है।
अपडेटेड Sep 09, 2019 पर 12:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

करेंट फिस्कल ईयर की पहली तिमाही में 18 पब्लिक सेक्टर बैंकों के साथ फर्जीवाड़े में कुल 2,480 केस सामने आए हैं। जिसमें 31,898.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है। यह खुलासा RTI के जरिए पूछे गए सवालों के जवाब में RBI ने दिया है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को तगड़ा चूना लगा है। SBI के कुल राशि का 38 फीसदी का नुकसान हुआ है। चंद्रशेखर गौड़ को RTI के जरिए पूछे गए सवालों के जवाब में RBI ने दिया है।


SBI के साथ धोखाधड़ी के कुल 1,197 केस सामने आए हैं। जिसमें बैंक को 12,012.77 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है।


SBI के बाद दूसरे नंबर में इलाहाबाद बैंक को झटका लगा है। इलाहाबाद बैंक में 381 धोखाधड़ी के मामले सामने आए हैं। जिसमें उसे 2,855.46 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। वहीं तीसरे नंबर में पंजाब नैशनल बैंक है, जिसमें 99 केस में 2,526.55 करोड़ रुपये का चूना लगा है।


हालांकि RBI ने इन फर्जीवाड़ों से बैंकों को होने वाले नुकसान के आंकड़े देने से मना कर दिया है।


RBI को दिए गए डाटा के मुताबिक, बैंक ऑफ बड़ौदा में धोखाधड़ी के कुल 75 केस सामने आए हैं। जिसमें उसे 2,297.05 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है। जबकि Oriental Bank of Commerce में 45 केस के साथ 2,133 करोड़ रुपये की चपत लगी है।


इसी तरह केनरा बैंक में 69 केस सामने आए हैं। जिसमें 2,035.81 करोड़ गंवाना पड़ गया। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में 194 केस सामने आए हैं, जिसमें 1,982.27 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इसके साथ यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया में धोखाधड़ी के 31 केस सामने आए हैं। जिसमें 1,196.19 करोड़ रुपये का  झटका लगा है।


ऐसे ही कॉर्पोरेशन बैंक में 16 केस सामने आए हैं, जिसमें 960.80 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है।


इंडियन ओवरसीज बैंक में 46 केस सामने आए हैं, जिसमें 934.67 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।


Syndicate Bank में 54 केस सामने आए हैं, जिसमें 795.75 करोड़ रुपये की चपत लगी है।


यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में 51 केस सामने आए हैं, जिसमें 753.37 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।


बैंक ऑफ इंडिया में 42 केस सामने आए हैं, जिसमें 517 करोड़ रुपये का झटका लगा है।
यूको बैंक में 34 केस सामने आए हैं, जिसमें 470.74 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का पता चला है।


धोखाधड़ी के शिकार हुए अन्य बैंकों में बैंक ऑफ महाराष्ट्र, आंध्रा बैंक, इंडियन बैंक और पंजाब एंड सिंध बैंक शामिल हैं।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।