Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

20 लाख करोड़ का राहत पैकेज अंतिम नहीं,जरूरत पड़ी तो और राहत देगी सरकार :अनुराग ठाकुर

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि 20 लाख करोड़ का राहत पैकेज अंतिम नहीं है।
अपडेटेड May 27, 2020 पर 09:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने CNBC-आवाज़ के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा है कि पहले चरण में गरीबों के लिए पैकेज दिया गया।  सरकार नए सुझावों पर गौर कर रही है। सरकार राज्यों को हर संभव मदद दे रही है। देश के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार है। इस समय जान और जहान दोनों बचाने की जरूरत है। Hospitality Sector पर कोरोना का काफी बुरा असर पड़ा है। 20 Lk Cr का राहत पैकेज अंतिम नहीं है। बाजार से अतिरिक्त 4.2लाख करोड़ रुपये उठाएंगे। रिफॉर्म का मकसद विदेशी निवेश बढ़ाना भी है। 3 लाख करोड़ रुपये MSMEs के साथ छोटे बिजनेस के लिए भी है।


वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बातचीत में आगे कहा कि जरूरत पड़ी तो एक और राहत पैकेज का एलान हो सकता है। CNBC-आवाज़ के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा 20 लाख करोड़ का राहत पैकेज अंतिम नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि MSME को आसान कर्ज मुहैया कराने की मुहिम शुरू हो चुकी है और विनिवेश के मामले पर भी सरकार का ध्यान है, लेकिन उचित कीमत मिलने पर ही विनिवेश किया जाएगा। उनकी बातचीत में सबसे बड़ा संकेत यही है कि राहत देने के मामले में सरकार के पास विकल्प अभी खत्म नहीं हुए हैं। सरकार ने साफ किया है कि राहत पैकेज देने का मतलब ये नहीं कि उसका काम खत्म हो गया है।


MSME पर बात करते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि उन्हें आसान कर्ज मुहैया कराया जा रहा है जिसमें किसी तरह की गारंटी की जरुरत नहीं होगी। उन्होंनें आगे कहा कि भारत ने कोरोना से लड़ाई में अच्छे कदम उठाए हैं। इकोनॉमी के लिए भी सोच-समझ कर फैसले लिए गए हैं। कर्ज के लिए किसी तरह की गारंटी नहीं देनी होगी। लोन किस्त चुकाने में भी 6 महीने की राहत दी गई है।


इस बातचीत में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने ये भी कहा कि कोरोना की वजह से विनिवेश की प्रक्रिया धीमी पड़ी है लेकिन विनिवेश की प्रक्रिया जारी है और सही दाम मिलने पर हिस्सा बेचा जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।