Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिल्ली की अनाज मंडी में भीषण आग, 43 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

रानी झांसी रोड पर रविवार सुबह अनाज मंडी में भीषण आग लग गई। इससे 43 लोगों मौत की खबर है।
अपडेटेड Dec 09, 2019 पर 09:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली में रानी रोड झांसी पर स्थित अनाज की मंडी इलाके में रविवार सुबह भीषण आग लग गई। जिससे पूरे इलाके में हाहाकार मच गया। चार मंजिला इमारत में लगी आग में जलकर और धुएं में दम घुटने से 43 लोगों की मौत हो गई है। इसमें 64 लोगों को बचाया गया है। शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगने का कारण बताया जा रहा है।


फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने कहा कि आग लगने की जानकारी सुबह 5:22 बजे मिली। जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। उन्होंने बताया कि वहां की गलियां बहुत संकरी हैं। साथ ही, आसपास पानी का साधन भी नहीं है, जिस कारण दमकल की गाड़ियों को दूर-दूर से पानी लाना पड़ा। अधिकारियों के मुताबिक, आग के कारण फंसे कई लोगों को बाहर निकालकर RML अस्पताल Qj हिंदू राव अस्पताल ले जाया गया है। घटना स्थल पर NDRF की टीम पहुंच गई है।


पीएम मोदी ने इस आग की घटना को बेहद भयानक बताया है। उन्होंने कहा कि अधिकारी आग लगने के स्थल पर लोगों को सभी संभव मदद मुहैया करा रहे हैं।


प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, आग की घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं, आग में झुलसे लोगों के तेजी से ठीक होने की कामना करता हूं।


गृह मंत्री अमित शाह ने दुख जताते हुए ट्वीट किया है कि संबंधित अधिकारियों को तत्काल आधार पर सभी संभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।


राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि दिल्ली के अनाज मंडी में भीषण आग लगने से कई लोगों की मौत और अनेक लोगों के घायल होने की खबर से आहत हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। 


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अनाज मंडी क्षेत्र में आग लगने की घटना दुखद है और दमकल कर्मी लोगों को बचाने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि बेहद दुखद। बचाव अभियान जारी है और दमकलकर्मी हर संभव प्रयास कर रहे हैं। आग में झुलसे लोगों को अस्पताल ले जाया जा रहा है।


केजरीवाल ने कहा कि इस आग की घटाना की जांच मजिस्ट्रेट से कराई जाएगी। साथ ही दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की बात कही है। केजरीवाल ने मृतकों को 10-10 लाख का मुआवजा और घायलों को 1-1 लाख रुपये के साथ मुफ्त इलाज की घोषणा की है।


 जिस बिल्डिंग में आग लगी, उसमें फैक्ट्री के साथ-साथ लोग वहां रहते भी थे। बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में बेकरी गोदाम चल रहा था और लोग वहीं सोते भी थे। यहां पैकेजिंग का काम भी होता था। चूंकि फैक्ट्रियां आपस में जुड़ी हुई हैं, इसलिए आग जल्दी-जल्दी फैलती गई। इलाके की गलियां बेहद संकरी हैं, इसलिए एक बार में एक ही गाड़ी अंदर जा सकती है। इससे राहत कार्य में तेजी नहीं ला जा सकी। इसकी वजह से धुएं का गुबार फैलता गया और लोग बेहोश होने लगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।