Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ग्रैच्युटी के लिए 5 साल का इंतजार होगा खत्म, करोड़ों कर्मचारियों को होगा फायदा

ग्रैच्युटी के लिए 5 साल की शर्त जल्द खत्म हो सकती है। इसके अलावा फिक्स्ड टर्म पर काम करने वालों को भी ग्रैच्युटी मिलेगी।
अपडेटेड May 17, 2020 पर 14:47  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ग्रैच्युटी के लिए 5 साल की शर्त जल्द खत्म हो सकती है। इसके अलावा फिक्स्ड टर्म पर काम करने वालों को भी ग्रैच्युटी मिलेगी। इससे जुड़े लेबर रिफॉर्म को जल्द मंजूर मिल सकता है। ग्रैच्युटी नियमों में नरमी देते हुए अब अब 5 साल काम करने की शर्त हट जाएगी । अब ग्रैच्युटी के लिए किसी कंपनी में 5 साल काम करना जरूरी नहीं होगा। 1 साल तक काम करने पर भी ग्रैच्युटी मिलेगी। ग्रैच्युटी के लिए समय सीमा की शर्त हट सकती है। अब जितने दिन काम उतने दिन की ग्रैच्युटी मिलेगी। फिक्स्ड टर्म वालों को भी ग्रैच्युटी का फायदा  मिलेगा। हालांकि सोशल सिक्योरिटी कोड में समय सीमा का जिक्र नहीं है। संसद की स्थायी समिति इस महीने इस पर अपनी रिपोर्ट सौंप सकती है। लेबर कोड पर सरकार लेगी संसद की मंजूरी लेगी। 1 साल की सीमा तय करने से करोड़ों कमर्चारियों को राहत मिलेगी।


क्या है वर्तमान व्यवस्था


सर्विस में 5 साल पूरे होने पर कर्मचारी ग्रेच्युटी का हकदार बनता है। 5 साल से पहले नौकरी छोड़ने पर उसे यह राशि नहीं मिलती है। Gratuity से जुड़ा एक महत्वपूर्ण नियम यह भी है कि यदि 5 वर्ष की सेवा से पहले ही कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है तो कंपनी को परिवार को वे Gratuity की रकम देना होती है। इसी तरह यदि कोई कर्मचारी नौकरी के दौरान दिव्यांग हो जाता है तो भी कंपनी को उसे ग्रेच्युटी देना होती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।