Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सरकार की कमाई पर कोरोना की मार, पहली छमाही में टैक्स कलेक्शन 22.5% गिरा: सूत्र

सूत्रों के मुताबिक पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 22.5 फीसदी गिरा है।
अपडेटेड Sep 16, 2020 पर 19:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सरकार की कमाई पर कोरोना की बड़ी मार पड़ी है। सूत्रों के मुताबिक पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 22.5 फीसदी गिरा है। बंगलुरू को छोड़ दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई के टैक्स कलेक्शन में बड़ी गिरावट देखने को मिली है।


सीएनबीसी-आवाज़ को सूत्रों के हवाले से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 22.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 22.5 फीसदी की गिरावट के साथ 2,53,532 करोड़ रुपए रहा है। बता दें कि  इस कलेक्शन में कॉर्पोरेट,I-T और एडवांस टैक्स शामिल है। ये वित्त वर्ष 2021 मे 15 सितंबर तक के टैक्स कलेक्शन आंकड़े हैं।


सूत्रों के मुताबिक वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में मुंबई में टैक्स कलेक्शन 13.9 फीसदी  घटा है। वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में कोलकाता में टैक्स कलेक्शन 13.9 फीसदी  घटा है। वहीं, इसी अवधि में चेन्नई में टैक्स कलेक्शन 37.3 फीसदी घटा है। वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में दिल्ली में टैक्स कलेक्शन  33 फीसदी  घटा है। कोरोना काल में बंगलुरू ही अपवाद रहा है।


सूत्रों के मुताबिक वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में बंगलुरू में टैक्स कलेक्शन बढ़ा है।  वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही में बंगलुरू के टैक्स कलेक्शन में  9.9 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। जानकारों का कहना है कि बंगलुरू को आईटी हब होने का फायदा मिला है। कोरोना काल में आईटी और इंटरनेट पर बढ़ती निर्भरता का फायदा बंगलुरू को मिला है।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।