Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जून तिमाही में एडवांस टैक्स कलेक्शन ने लगाया 76% का गोता

सूत्रों के मुताबिक इनकम टैक्स के ग्रॉस कलेक्शन में 21 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।
अपडेटेड Jun 17, 2020 पर 13:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एडवांस टैक्स कलेक्शन सालाना आधार पर इस दशक के सबसे निचले स्तर पर चला गया है। इसमें अब तक की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है। जून तिमाही में एडवांस टैक्स कलेक्शन में 76 फीसदी की भारी गिरावट देखने को मिली है। इसमें भी मुंबई सर्कल आगे रहा है। जून तिमाही में मुंबई सर्कल के एडवांस टैक्स कलेक्शन में 78  फीसदी की भारी गिरावट देखने को मिली है।


सूत्रों के मुताबिक इनकम टैक्स के ग्रॉस कलेक्शन में 21 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।


इस मामले से जुड़े एक आधिकारिक सूत्र ने मनीकंट्रोल से बताया है कि इस तिमाही में COVID-19 की वजह से टैक्स कलेक्शन में भारी गिरावट की उम्मीद थी। आयकर विभाग के कर्मचारी भी अपनी पूरी क्षमता के साथ काम नहीं कर पा रहे थे। इसके अलावा कंपनियों को भी अगले 1 साल में उनकी कमाई में गिरावट की उम्मीद है। COVID-19 महामारी के कारण ब्रिक्री में भारी गिरावट देखने को मिली है। यह साल हर किसी के लिए बहुत मुश्किल साबित होने वाला है। कॉर्पोरेट टैक्स में की गई कटौती से भी ओवरऑल कलेक्शन पर भी असर पड़ा है।


बता दें कि एडवांस टैक्स का भुगतान कंपनियों और व्यक्तिगत करदाताओं द्वारा इस अनुमान पर किया जाता है कि शेष बचे साल में उनकी कमाई में अच्छी बढ़त देखने को मिलेगी। एडवांस टैक्स के आकंड़ों में गिरावट से आगे इकोनॉमी में कमजोरी के संकेत मिलते हैं।


आयकर विभाग के रिपोर्ट के मुताबिक 15 जून तक कुल 11,714 करोड़ रुपये का एडवांस टैक्स कलेक्शन हुआ जो पिछले साल के इसी अवधि के 48,917 करोड़ रुपये से 76 फीसदी कम है। इसी तरह इस अवधि में कॉर्पोरेट टैक्स कलेक्शन 8,286 करोड़ रुपये रहा जो सालाना आधार पर 79 फीसदी कम है। इसी अवधि में एडवांस इनकम टैक्स कलेक्शन में भी 64 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है और यह पिछले साल के 9512 करोड़ रुपये से घटकर 3,428 करोड़ रुपये पर आ गया है।


कुल टैक्स कलेक्शन में करीब 35 फीसदी का योगदान करने वाले मुंबई सर्कल के कलेक्शन में भी भारी गिरावट देखने को मिली है। मुंबई सर्कल का टैक्स कलेक्शन सालाना आधार पर 78 फीसदी गिरकर 3751 करोड़ रुपये पर रहा है।


टैक्स डिपार्टमेंट ने पिछले साल 17,174 करोड़ रुपये की वसूली की थी। इसमें से 14,873 करोड़ रुपये कॉर्पोरेट एडवांस से आए थे। इस साल यह वसूली 80 फीसदी घटकर 2859 करोड़ रुपये पर आ गई है। जून तिमाही में एडवांस इनकम टैक्स कलेक्शन में भी सालाना आधार पर 61 फीसदी गिरावट देखने को मिली है और यह 892 करोड़ रुपये पर आ गया है।


जून तिमाही में टैक्स का ग्रॉस कलेक्शन भी सालाना आधार पर 31 फीसदी घटकर 1,37,825 करोड़ रुपये रहा है जो पिछले साल की इसी तिमाही में 1,99,755 करोड़ रुपये था। इसी तरह जून तिमाही का कॉर्पोरेट टैक्स का ग्रॉस कलेक्शन पिछले साल की तुलना में 40 फीसदी घटकर 61,816 करोड़ रुपये रहा है।


जून तिमाही में इनकमटैक्स का ग्रॉस कलेक्शन भी सालाना आधार 22 फीसदी घटकर  73,280 करोड़ रुपये रहा है। बता दें कि ग्रॉस कलेक्शन की गणना रिफंड की राशि को घटाए बगैर की जाती है। इस अवधि में इनकम टैक्स रिफंड भी 28 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है और यह 45,143 करोड़ रुपये के स्तर पर रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।