Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

After The Bell: निचले स्तरों से अच्छी रिकवरी के बाद बढ़त पर बंद हुआ बाजार, मंगलवार को क्या हो निवेश रणनीति

निफ्टी आज 15,700 के ऊपर बंद हुआ। जबकि सेंसेक्स में निचले स्तरों से 800 से ज्यादा अंकों की रिकवरी देखने को मिली
अपडेटेड Jun 22, 2021 पर 09:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय बाजार आज शुरुआती गिरावट से स्मार्ट रिकवरी के साथ हरे निशान में बंद हुए। निफ्टी आज 15,700 के ऊपर बंद हुआ। जबकि सेंसेक्स में निचले स्तरों से 800 से ज्यादा अंकों की रिकवरी देखने को मिली।


आज भारतीय बाजारों में एशियन और यूरोपियन मार्केट से मिले संकेतों के चलते जोरदार रिकवरी देखने को मिली। यूएस स्टॉक फ्यूचर्स में आज मजबूती देखने को मिली। घरेलू मोर्चे पर देखें तो वैक्सीनेशन के फ्रंट पर सरकार की तरफ से 18 साल से ऊपर के हर व्यक्ति को फ्री वैक्सीन लगाए जाने के ऐलान के बाद इकोनॉमी की तेज रिकवरी की उम्मीद जगी है।


जियोजित फाइनेशियल के विनोद नायर का कहना है कि यूएस फेड के हॉकिश मॉनिटरी पॉलिसी के चलते घरेलू बाजार आज कमजोरी के साथ खुले लेकिन पीएम के सभी नागरिकों के मुफ्त वैक्सीनेशन के बयान और इकोनॉमी में तेज रिकवरी की उम्मीद के चलते बाजार दिन के निचले स्तर से तेजी के साथ रिकवर हुआ और हरे निशान में बंद हुआ।


जानिए कल क्या हो बाजार में रणनीति


CapitalVia Global Research के आशीष बिस्वास का कहना है कि निफ्टी हमें आगे 15500-15900 के रेंज में  नजर आ सकता है। निफ्टी के लिए शॉर्ट टर्म में 15500 के ऊपर टिके रहना काफी अहम होगा। टेक्निकल इंडिकेटर्स बुलिस ट्रेन्ड का सपोर्ट कर रहे हैं ऐसे में निवेशकों को शॉर्ट टर्म में इंट्राडे करेक्शन में  खरीदारी करनी चाहिए और 15900 के आसपास मुनाफावसूली करके निकल जाना चाहिए।


RSI औऱ MACD जैसे मोमेटम इंडीकेटर भी पॉजिटीव डायवर्जन की ओर संकेत कर रहे हैं जो इस बात का संकेत है कि बाजार में रिकवरी कायम रह सकती है और निफ्टी एक बार फिर 15900 का स्तर छू सकता है।


Motilal Oswal Financial Services के चंदन तपडिया का कहना है कि निफ्टी को 15900-16000 की तरफ जाने के लिए 15700 के ऊपर टिके रहना होगा। निफ्टी के लिए नीचे की तरफ 15,600 और  15,550 के स्तर पर सपोर्ट नजर आ रहा है।


LKP Securities के गौरव बिस्सा का कहना है कि यह लगातार दूसरी बार है जब निफ्टी ने मजबूत कमबैक किया है जो बाजार में मजबूती का संकेत है। हालांकि ऑवर्ली बेसिस पर निफ्टी इचीमोकू क्लाउड सपोर्ट (Ichimoku cloud support) के करीब क्लोज होने की स्थिति में है। निफ्टी को 16000 का स्तर छूने के लिए  15,780-15,800 के ऊपर ऑवर्ली क्लोजिंग देनी होगी।


Sharekhan के गौरव रत्नपारखी का कहना है कि निफ्टी अपने शॉर्ट टर्म रेंज के ऊपरी छोर की तरफ बढ़ रहा है, जो कि 15900 पर स्थित है। बाजार का ओवर ऑल आउटलुक पॉजिटिव है। निफ्टी जल्द ही 16,000 का स्तर पार कर सकता है। शॉर्ट टर्म के लिहाज से गिरावट पर खरीद की रणनीति सबसे बेहतर रणनीति होगी।


FYERS के अभिषेक चिंचालकर का कहना है कि निफ्टी ने लगातार दूसरे दिन जोरदार इंट्रा डे रिकवरी दिखाई है। ऐसा लगता है कि इंडेक्स को अपने पिछले रिकॉर्ड हाई 15,431 के आसपास सपोर्ट मिल गया है। अब निफ्टी के लिए 15,700 के आसपास रजिस्टेंस नजर आ रहा है। निफ्टी को ऊपर का रूख करने के लिए कम से कम 3 कारोबरी सत्रों में इस लेवल से ऊपर टिके रहना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.