Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

होम डिलीवरी करने के नाम पर शराब के शौकीन से ठग लिए 43 हजार

किसी व्यक्ति ने ऑनलाइन शराब बिक्री करने वाले ऐसे गिरोह को संपर्क किया तो वे उन्हें घर पर शराब पहुंचाने का आश्वासन देते हैं और उसके लिए ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने को कहते हैं।
अपडेटेड May 21, 2020 पर 14:49  |  स्रोत : Moneycontrol.com

शराब की ऑनलाइन बुकिंग और होम डिलीवरी की अनुमति दिये जाने से जहां शराब के शौकीन लोगों में खुशी की लहर है वहीं ऐसे लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाने के लिए ठग और फर्जी गिरोह भी सक्रिय हो गये हैं। ठगों के एक गिरोह ने नवी मुंबई के एक व्यक्ति को करीब 43 हजार का चूना लगाया है। पुलिस ने इस गिरोह के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामाला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।


कोरोना के कारण पिछले डेढ़ महीने से देश भर में लॉकडाउन जारी है। इसमें अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर बार, पब्स शराब की दुकाने पूर्ण रूप से बंद रखी गई थी। शराब की खरीद-फरोख्त पर पूरी बंदी लगाई गई थी। अब डेढ़ महीने बाद केंद्र सरकार ने शराब बिक्री की मंजूरी दी है लेकिन शराब की दुकानों पर बेतहाशा भीड़ होने के कारण नागरिकों को ऑनलाइन खरीदारी का विकल्प दिया है। इसका फायदा उठाते हुए ऑनलाइन ठगी करने वालों ने गूगल पर ऑनलाइन बुकिंग पर घर पर शराब पहुंचाने के विज्ञापन दिये हैं और उस पर संपर्क करने के लिए अपना मोबाइल नंबर भी दिया है।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के अनुसार किसी व्यक्ति ने ऑनलाइन शराब बिक्री करने वाले ऐसे गिरोह को संपर्क किया तो वे उन्हें घर पर शराब पहुंचाने का आश्वासन देते हैं और उसके लिए ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने को कहते हैं। ऐसे में उन्हें अनेक कारण बताकर उनके बैंक के सभी पैसे ऑनलाइन अपने खाते में ट्रांसफर करवा लेने का मामला सामने आया है।


नवी मुंबई के सीवुड्स सेक्टर 42 के निवासी सचिन दिवे शराब की होम डिलीवरी के लिए विज्ञापन से श्याम लिकर का नंबर गूगल से प्राप्त किया था। सचिन द्वारा 5300 रुपये की शराब का ऑर्डर दिये जाने पर उस व्यक्ति ने इनसे पेटीएम द्वारा पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर करने के लिए उनका क्यूआर कोड स्कैन करके भेजने के लिए कहा। उसके बाद उनको अलग-अलग कारण बताकर उनके खाते से 42 हजार 568 रुपये अपने खाते में ट्रांसफर कर लिये और सचिन को ठग लिया।


नवीं मुंबई पुलिस के सामने ये मामला पहुंचने पर पुलिस इसकी जांच में जुट गई है और पुलिस ने ट्वीट करके लोगों से फर्जी विज्ञापनों पर विश्वास नहीं करने और इससे बचने की अपील की है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।