Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिग्गज मोबाइल फोन उत्पादक कंपनियों की भारत में प्लांट लगाने की तैयारी: Report

घरेलू और वैश्विक मोबाइल उत्पादक कंपनियों में भारत में प्लांट लगाने पर ग्रेडेड तरीके से अगले 5 साल में 40,951 करोड़ रुपये का इंटेसिव देगी।
अपडेटेड Jun 04, 2020 पर 10:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

द इकोनॉमिक टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक Samsung, Foxconn, Wistron जैसी कई कंपनियां 41000 करोड़ रुपये की प्रोडक्शन लिंक इंसेटिव स्कीम के लिए अप्लाई कर सकती हैं और भारत में अपनी उत्पादन ईकाईयां लगा सकती हैं।


गौरतलब है कि भारत तमाम स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों का भारत में अपने प्लांट लगाने के लिए आकर्षित करने की कोशिश कर रहा है।


आईटी और टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस बीफ्रिंग के दौरान बताया कि सरकार पीएलआई स्कीम के तहत 5 ग्लोबल स्तर की स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को भारत में प्लांट लगाने  के लिए सहायता देना चाहती है। इसके साथ ही 5 घरेलू मोबाइल उत्पादक कंपनियों को भी सहायता पहुंचाने की योजना है।


रविशंकर प्रसाद ने इन 5 मोबाइल उत्पादकों के नाम का उल्लेख तो नहीं किया लेकिन सूत्रों से ईटी को सूचना मिली है कि इन मेजर ग्लोबल पेलर्यस में Apple, Samsung, Oppo, Vivo, Xiaomi, Foxconn, Wistron, Flex जैसे नाम शामिल हो सकते हैं।


मनीकंट्रोल इस रिपोर्ट की स्वतंत्र रुप से पुष्टि नहीं करता है।


Wistron और  Flex और मोबाइल इंडस्ट्रीज के एसोसिएशन इंडिया सेल्लुर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन का कहना है कि सरकार का यह कदम इंडस्ट्री के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है।


बता दें कि इंडिया सेलुलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स  एसोसिएशन  में Xiaomi, Oppo, Vivo, Apple, Lava और फ़ॉक्सकॉन जैसे मोबाइल उत्पादक शामिल हैं।


Wistron India के सीईओ डेविड शेन ने इकोनॉमिक टाइम्स से अपनी बातचीत में कहा कि Wistron भारत में अपना बिजनेस बढ़ाने पर फोकस कर रहा है। बता दें कि Wistron बेंगलूरु की बाहरी हिस्से में स्थित ईकाई में एप्पल के आईफोन बनाता है।


सरकार ने कहा कि वह पीएलआई के तहत घरेलू और वैश्विक मोबाइल उत्पादक कंपनियों में भारत में प्लांट लगाने पर ग्रेडेड तरीके से अगले 5 साल में 40,951 करोड़ रुपये का इंसेंटिव देगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें