आवाज़ अड्डाः पाकिस्तान के मामले में राजनीति ज्यादा, कूटनीति कम! -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आवाज़ अड्डाः पाकिस्तान के मामले में राजनीति ज्यादा, कूटनीति कम!

प्रकाशित Mon, 05, 2018 पर 20:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीमा पर दिसंबर से चल रही पाकिस्तान की गोलीबारी में अब तक 2 आर्मी ऑफिसर्स समेत 10 सैनिकों की शहादत हो चुकी है। इसके अलावा आठ नागरिकों की मौत हुई, सैकड़ों लोग घायल हुए और सीमा से लगे सैकड़ों गांवों में सन्नाटा पसरा हुआ है। बच्चों के स्कूल बंद हैं और गांव के लोग शिविरों में दिन गुजार रहे हैं। खबरों के मुताबिक सीजफायर का उल्लंघन कर रही पाकिस्तानी सेना ने इस बार मिसाइलों से हमला किया है। ऐसे में विपक्षी पार्टियां सवाल कर रही हैं कि पाकिस्तान के खिलाफ आग उगलने वाली बीजेपी अब सरकार में है तो माकूल जवाब क्यों नहीं देती? अभी भी बयानों से काम चलाने की कोशिश क्यों हो रही है?


कैप्टन कपिल कुंडू 10 फरवरी को 23 जन्मदिन मनाने घर आने वाले थे, लेकिन 4 फरवरी को ही पाकिस्तानी गोलीबारी में वो शहीद हो गए। रजौरी के सुंदरबनी में पाकिस्तान की भारी गोलीबारी में उनके साथ राइफलमैन राम अवतार, राइफलमैन शुभम सिंह और हवलदार रोशन लाल भी शहीद हुए। पिछले साल तेइस दिसंबर को मेजर एम पी अंबादास की शहादत हुई थी। नए साल में अब तक पाकिस्तानी गोलियों ने 10 सैनिकों समेत 18 लोगों की जान ली है। सरकार पाकिस्तान को माकूल जवाब दने की बात कह रही है।


लेकिन बार-बार ऐसी चेतावनी के बावजूद पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। अब सरकार की सहयोगी शिवसेना पूछ रही है कि क्या भारत के टैंक और मिसाइल सिर्फ छब्बीस जनवरी की परेड में दिखाने के लिए हैं, और कांग्रेस इस मामले पर प्रधानमंत्री से जवाब मांग रही है।


सर्जिकल स्ट्राइक के बाद लगा था कि सरकार सीमा पार से आतंकवाद और गोलाबारी को लेकर सीरीयस है। लेकिन हाल के दिनों की वारदात से लगता नहीं कि पाकिस्तान ने कोई सबक लिया है। तो ऐसे में पड़ोसी से कैसे निपटा जाए- बोली से गोली से। और कैसे?