Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आवाज़ अड्डा: जहरीली हवा से लाखों मौत, जिम्मेदार कौन!

प्रकाशित Wed, 31, 2018 पर 08:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीने में जलन, आंखों में तूफान सा क्यों है। इस शहर में हर शख्स परेशान सा क्यों है। शहरयार ने ये लाइनें लिखीं तो कुछ और सोचकर थीं मगर अब दिल्ली और भारत के अनेक बड़े शहरों में रहनेवाले लोगों को देखकर लगता है कि शायद इन्हीं पर लिखी गई हैं। हर रोज, हर साल, हालात और बिगड़ रहे हैं। तरक्की की दौड़ में हम आगे बढ़ते जा रहे हैं मगर साफ हवा और साफ पानी के मोर्चे पर लगातार पिछड़ रहे हैं। मौसम बदलता है, बीमारियां लाता है, सांस घुटने लगती है और शहर एक गैस चैंबर बन जाता है।


दिल्ली में आज हवा इतनी खराब है कि सरकार ने लोगों को सलाह दी है कि घरों के खिड़की दरवाजे बंद रखें और बाहर न निकलें। शायद आसपास देखकर आपको अंदाजा न होता हो मगर हालात कितने खतरनाक हैं ये डब्लू एच ओ की एक रिपोर्ट से दिखता है जिसमें बताया गया है कि सिर्फ 2016 में भारत में 1 लाख से ज्यादा बच्चों की मौत की वजह हवा में घुला हुआ जहर था ये जहर जिसे हम प्रदूषण कहते हैं। आवाज़ अड्डा में आज इसी पर हो रही है बड़ी बहस।