Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आवाज़ आंत्रप्रेन्योर: अध्यात्म में कारोबार के मौके

प्रकाशित Sat, 08, 2018 पर 16:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

गणेश चतुर्थी नजदीक आ रही है, ये एक ऐसा त्योहार है जो जुड़ा है भक्ति और भावनाओं से। 10 दिनों तक धूमधाम से मनाए जाने वाले इस त्योहार में करोड़ों का बिजनेस होता है। फूल, डेकोरेशन से लेकर गणपति की मुर्ति हो या पंडित जी, एक भी चीज ग्राहकों को आसानी से और किफायती भाव में नही मिलती। पूजा आराधना फिर चाहे वो गणेश जी की हो किसी भी देवता की, इसे पूरा करने के लिए पैसे और समय खर्चने के बावजूद ग्राहकों को हर तरह से संतुष्टि नहीं मिलती। इसमें दिक्कतें कई स्तर पर आती हैं, जिन्हें सुलझा रहा है एक ऐप - माय ओम नमो।


संखे और पिंपले परिवार के घर सालों से सत्यनारायण की पूजा करने का रिवाज है, लेकिन इस साल की पूजा हर साल की तरह नहीं है। आज सारे घरवाले सूकून से पाठ सुनने बैठे हैं, ना कोई गड़बड़ है ना ही काम का टेंशन। इस साल की पूजा अलग और खास बनी है माय ओम नमो ऐप की बदौलत। सबसे पहले तत्वी ने ऐप पर पंडित बुक किए, इसके साथ ही ई-स्टोर में पूजा सामग्री ऑर्डर भी की जा सकती है। यहां तक कि फूल, केले के पत्ते, प्रसाद यानि माय ओम नमो ऐप पूजा को लेकर हर तरह की तैयारी का जिम्मा लेता है।


मकरंद पाटिल ग्राहकों के लिए माय ओम नमो ऐप लेकर आए हैं। दुबई में पूजा के लिए पंडित मिल पाने की अड़चन के बाद मकरंद और उनकी पत्नी प्राजक्ता ने टेक्नोलॉजी की मदद से आध्यात्म से जुड़ी सारी दिक्कतों का हल ढूंढने की कोशिश की। तगड़े रिसर्च के बाद 2016 में स्पिरिच्युअल इंडस्ट्री के वन स्टॉप माय ओम नमो की शुरुआत की। आज इस ऐप पर ग्राहकों के लिए 156 पूजा करने के विकल्प मौजूद हैं।


इस कारोबार को शुरू करते वक्त पूजा करवाने में ग्राहकों को किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े इस बात पर फोकस करते हुए बिजनेस डिजाइन किया गया। 30 अरब डॉलर के स्पिरिच्युअल मार्केट में धमाकेदार एंट्री लेने के लिए जरुरी था इस क्षेत्र की बारिकियां समझ लेना और इस काम के लिए जानकारों की मदद फाउंडर्स के काम आई।


माय ओम नमो के ई-स्टोर में ऑर्गेनिक पूजा सामग्री के अलावा डेली पंडित एक्टिविटी, ब्राम्हण भोज, भजन कीर्तन, माता की चौकी, मंदिर में दान- दक्षिणा देना, मंदिर में वीआईपी एंट्री जैसी सर्विसेज हैं। साथ ही एस्ट्रोलॉजी, वास्तु एक्सपर्ट, टैरो कार्ड रीडर की सर्विसेज का फायदा भी ग्राहक यहां से उठा सकते हैं। ग्राहकों के सुझाव और जरुरतों को ध्यान में रखते हुए कंपनी इस प्लेटफॉर्म पर नई-नई सर्विसेज शामिल करती रहती है।


कंपनी इस साल संपूर्ण गणेश पूजा किट लेकर आई है। इसमें शाडू मिट्टी और पेपरमैश से बनी ईको-फ्रेंडली गणेश की मुर्तियों से लेकर पूजा कीट, पेपर मखर और बाप्पा के फेवरेट होम मेड मोदक ऑर्डर किए जा सकते हैं। कंपनी के पास 2500 रजिस्टर्ड पुरोहित हैं जो 12 भाषाओं में पूजा कर सकते हैं। पिछले 2 साल में भारत में कंपनी 5000 पूजा और यूएई में 1000 पूजा कर चुकी है।


माय ओम नमो में फाउंडर्स ने 50 लाख का स्टार्टअप कैपिटल लगाया और महज दो सालों में भारत के 10 शहरों में और यूएई, स्पेन घाना जैसे मार्केट में पहुंच बनाई है। हाल ही में कंपनी ने यूएई के एचएनआई से 10 लाख डॉलर की प्री-सीरीज फंडिंग जुटाई है। अब माय ओम नमो का दायरा मलेशिया, सिंगापुर, बहरीन, ओमान और यूके के बाजारों में बढ़ने जा रहा है। साथ ही बच्चों के लिए हिंदू धर्म की पौराणिक कथाओं पर कार्टून सीरिज बनाने की तैयारी फाउंडर्स कर रहे हैं। कंपनी का इस साल के अंत तक 1 करोड़ डॉलर की आय और 2020 तक कंपनी का वैल्युएशन 10 करोड़ डॉलर करने का का लक्ष्य है।