Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बैंकों ने दिया सरकार को 59 मिनट में ऑटो, होम लोन देने का प्रस्ताव

जून में कोर सेक्टर की वृद्धि दर घटकर 0.2 फीसदी रही, जो मई 2015 के बाद की सबसे कम मासिक वृद्धि है। डिमांड कम होने से ऑटोमोबाइल कंपनियों प्रोडक्शन में कटौती करनी पड़ी है।
अपडेटेड Aug 07, 2019 पर 08:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मंदी की मार झेल रहे ऑटोमोबाइल सेक्टर और अर्थव्यवस्था को तेज धार देने के लिए वित्त मंत्रालय एक नया मसौदा तैयार कर सकता है। वित्त मंत्रालय के साथ अधिकारियों के साथ बातचीत में ऑटो, होम लोन को 59 मिनट में पास करने के प्रस्ताव पर चर्चा की गई। अगले हफ्ते इस मामले में सरकार उद्योग जगत के साथ बैठक करके इस पर चर्चा करेगी। 


सरकारी बैंकों के चेयरमैन, MD और CEO के साथ बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को रिटेल ग्राहकों को भी इतने कम समय में लोन अप्रूव करने के लिए स्कीम को शुरू करने का प्रस्ताव मिला है। वित्त मंत्रालय इस प्रस्ताव पर गौर कर रहा है। इस बैठक में वित्त सचिव राजीव कुमार भी मौजूद थे। फिलहाल इस तरह की सुविधा केवल छोटे कारोबारियों को मिलती है, जो psbloansin59minutes.com से आसानी से एक से पांच करोड़ रुपये तक का लोन लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।


बैंकों का सुझाव है कि, इस तरह का एक पोर्टल रिटेल ग्राहकों के लिए भी शुरू किया जाए, जिससे उनको आसानी से ऑटो, होम लेन मिल सके। ऐसा करने से अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिलेगी और मांग बढ़ने से कई सेक्टर जैसे कि ऑटो, रियल इस्टेट और इलेक्ट्रॉनिक्स को सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा।


हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सरकारी बैंक के प्रमुखों और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बीच हुई बैठक में रिटेल लोन की इस नई व्यवस्था पर बातचीत हुई है। वैसे, यह बातचीत अभी शुरुआती दौर में है।


छोटे कारोबारियों को लोन 59 मिनट योजना के तहत अब 5 करोड रुपये तक लोन मिल रहा है। एसबीआई समेत कई सरकारी बैंकों ने लोन की सीमा बढ़ा दी है।


भारत की अर्थव्यवस्था पिछले एक साल से मंदी का सामना कर रही है। जून में कोर सेक्टर की वृद्धि दर घटकर 0.2 फीसदी रही, जो मई 2015 के बाद की सबसे कम मासिक वृद्धि है। डिमांड कम होने से ऑटोमोबाइल कंपनियों प्रोडक्शन में कटौती करनी पड़ी है।