Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मजदूरों को बड़ी राहत जल्द, बीमा,पेंशन मिलने का रास्ता हुआ साफ-सूत्र

प्रवासी मजदूरों को न्यूनतम पेंशन और इंश्योरेंस कवर जैसी बड़ी राहत देने की तैयारी है.
अपडेटेड Jul 15, 2020 पर 10:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

प्रवासी मजदूरों को न्यूनतम पेंशन और इंश्योरेंस कवर जैसी बड़ी राहत देने की तैयारी


प्रवासी मजदूरों को न्यूनतम पेंशन और इंश्योरेंस कवर जैसी बड़ी राहत देने की तैयारी तेज हो गई है। संसद की स्थायी समिति ने प्रवासी मजदूरों को ध्यान में रखकर अपनी सिफारिशें बदली हैं। नई रिपोर्ट में क्या कुछ हो सकता है आइए जानते हैं। जुलाई अंत तक स्थायी समिति रिपोर्ट सौंप सकती है। संसद के अगले सत्र में बिल पास कराने की तैयारी है। सूत्रों के मुताबिक सोशल सिक्योरिटी कोड में होंगे नए प्रावधान होंगे। प्रवासी मजदूरों को कॉन्ट्रैक्ट वर्कर का दर्जा दिए जाने की तैयारी है। कोड में प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष पॉलिसी लाई जाएगी। प्रवासी मजदूरों के लिए हेल्थ-लाइफ कवर और मिनिमम पेंशन की सिफारिश की गई है। मजदूरों को हाउसिंग सुविधा देने की भी सिफारिश की गई है। मजदूरों के पास पोर्टेबल कार्ड से सुविधा कहीं भी लेने का विकल्प  होगा। सोशल सिक्योरिटी के लिए खास फंड बनाने का  भी प्रस्ताव है। नई प्रस्तावित नीति के तहत प्रवासी मजदूरों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा।


कुछ और अहम खबरें जिनसे न चूके नजर




भारती एयरटेल-वेरिजोन में करार


भारती एयरटेल ने अमेरिकी टेलीकॉम कंपनी वेरिजोन के साथ पार्टनरशिप का एलान किया है। भारती एयरटेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप ब्लू जींस लॉन्च किया है। डील के तहत दोनों कंपनियां इंटरनेट ऑफ थिंग्स को बढ़ावा देने के लिए एक दूसरे के सॉल्यूशंस का इस्तेमाल करेंगी। एयरटेल ने ब्लू जींस ऐप भी लॉन्च किया है।  ब्लू जींस एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप है। पहले 3 महीने एयरटेल ग्राहकों के लिए फ्री रहेगा। इसका डाटा भारतीय सर्वर पर रखा जाएगा। इसके जरिए जूम, जियो मीट की तर्ज पर वीडियो कॉलिंग होगी।


FMCG, ई-कॉमर्स और छोटी कंपनियों को राहत, कम नापतोल, दूसरी गड़बड़ी पर जेल नहीं.


कम नापतोल या फिर पैकेट पर मैन्युफैक्चरिंग, एक्सपायरी डेट या कंपनी का नाम नहीं होने पर अब कारोबारी को जेल की सजा नहीं होगी । इज ऑफ डूइंग बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए सरकार लीगल मेट्रोलॉजी एक्ट में बदलाव करने जा रही है। अभी जेल और जुर्माना दोनों का ही प्रावधान है। अब गड़बड़ी करने पर भारी जुर्माना वसूलने का प्रावधान करने की तैयारी है। सरकार  पेनाल्टी  2 लाख से बढ़ाकर 10 लाख करने के पक्ष में है। इस पर कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय का ड्राफ्ट तैयार है। नापतोल और दूसरी गड़बड़ी पर लाइसेंस जब्त करने का प्रावधान किया जा सकता है।


कर्मचारियों को वापस लाई Tech Mah


आईटी कंपनी टेक महिंद्रा अपने 210 से ज्यादा कर्मचारियों और उनके परिवार वालों को एक विशेष विमान के जरिए अमेरिका से वापस लेकर आई है। ये लोग कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से वहां फंस हुए थे। कंपनी इन लोगों को एक विशेष चार्टर्ड विमान के जरिए डल्लास फोर्ट वर्थ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से लेकर आई है। इस विमान ने 13 जुलाई को उड़ान भरी थी और आज सुबह हैदराबाद में लैंड हुई।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।