Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

चीन के साथ तनाव पर देश का मिजाज़ जानने के लिए NEWS 18 का सबसे बड़ा डिजिटल पोल, जानिए क्या है देश का मूड

NEWS 18 पोल की बड़ी बातों पर नजर डालें तो पोल में शामिल 92 फीसदी भारतीयों को जिनपिंग के मुकाबले ट्रंप पसंद हैं।
अपडेटेड Jun 08, 2020 पर 09:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सीमा पर चीन के साथ हमारी तनातनी बनी हुई है। दोनों तरफ से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल  LAC पर सैनिक मौजूदगी भी बढ़ा दी गई है। वैसे तो मसले को हल करने के लिए कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर कोशिश जारी है। लेकिन अभी बात बनी नहीं है। दरअसल सीमा के पास भारत कुछ निर्माण काम कर रहा है जिसपर चीन को आपत्ति है। जबकि भारत सरकार का कहना है कि वो जो भी काम कर रही है वो अपनी सरहद के भीतर भारत की जमीन पर कर रही है। दोनों देशों के बीच इसी तनातनी के बीच न्यूज18 ने देश भर में एक ऑनलाइन पोल किया। और पोल के नतीजों से एक बात साफ है कि चीन के साथ हमारे व्यापारिक रिश्ते भले मजबूत हुए हों लेकिन एक दोस्त के रुप में चीन और वहां की लीडरशिप अभी तक भारत के लोगों का दिल नहीं जीत पाई है। न्यूज18, मनी कंट्रोल, फर्स्टपोस्ट, CNBC-TV18 की बेवसाइट्स और सोशल प्लैटफॉर्म पर ये पोल किया गया। इस ऑनलाइन पोल में देशभर के करीब 31 हजार लोगों ने हिस्सा लिया।


NEWS 18 पोल की बड़ी बातों पर नजर डालें तो पोल में शामिल 92 फीसदी भारतीयों को जिनपिंग के मुकाबले ट्रंप पसंद हैं। डॉनल्ड ट्रंप और शी जिनपिंग में कोई मुकाबला नहीं है। चीन बनाम दूसरी बड़ी ताकत की लड़ाई में अधिकांश भारतीय चीन के खिलाफ हैं। पोल में शामिल 74 फीसदी भारतीय चीन के खिलाफ रहने के पक्ष में हैं। तमिल और पंजाबी जंग की सूरत में न्यूट्रल रहने के पक्ष में हैं। पोल में शामिल ज्यादातर लोगों का मानना है कि चीन ने कोरोना का सच दुनिया से छिपाया है। अधिकांश लोगों की राय है कि 5G इंफ्रा निवेश में चीनी कंपनियां नहीं आएं। 88 फीसदी भारतीय चीनी कंपनियों के खिलाफ है।  91 फीसदी भारतीय चीनी सामान और सर्विसेज के बहिष्कार के पक्ष में हैं। 97 फीसदी मराठी चीन के सामान को देखना नहीं चाहते। मजबूरी नहीं तो हो तो 72 फीसदी भारतीय चीनी प्रोडक्ट नहीं खरीदनें के पक्ष में हैं। पोल में शामिल 23 फीसदी लोगों ने कहा है कि वे चीन के सामान की खरीदारी कम कर देंगे। सिर्फ 4 फीसदी लोग अब भी चीन का सामान खरीदने के पक्ष में हैं। चीन के प्रति भारत के दोस्ताना रुख पर लोगों में दुविधा है। पोल में शामिल 53 फीसदी लोग चीन से दोस्ती के पक्ष में हैं जबकि 47 फीसदी इसके खिलाफ हैं।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।