Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

तेजी से फैल रहा है बाइक टैक्सी कारोबार

प्रकाशित Fri, 17, 2019 पर 11:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कानूनी अनिश्चितताओं के बावजूद बाइक-टैक्सी का कारोबार रफ्तार में है। ओला-उबर के साथ ही कई स्टार्टअप्स इस कारोबार में है। सिर्फ मेट्रो शहर ही नहीं अब छोटे शहरों में भी बाइक-टैक्सी का कारोबार पैर पसार रहा है।


उमेश नोएडा के सेक्टर 127 में काम करते हैं और घर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो से आने के बाद यहां से दफ्तर बाइक टैक्सी से जाते हैं। पहले ऑटो से उमेश को 60 से 70 रुपए किराया देना होता था लेकिन बाइक टैक्सी से अब 20 से 25 रुपए में ही दफ्तर पहुंच जाते हैं। बाइक टैक्सी का एक फायदा ये भी है कि ट्रैफिक जाम में भी ज्यादा झंझट नहीं रहता।


बाइक टैक्सी का चलन तेजी से बढ़ रहा है। कई कंपनियां इस कारोबार में कूद गई हैं। 25 शहरों में मौजूद रैपिडो हर महीने 10 लाख से ज्यादा राइड्स का दावा कर रही है। वहीं 31 शहरों में मौजूद ओला बाइक 20 लाख राइड्स हर महीने कर रहा है। जबकि गुरूग्राम में बैक्सी, बिक्सी और वोगो अपनी पहचान बना रही है। हालांकि बाइक-टैक्सी को लेकर अधिकतर राज्यों में कोई पॉलिसी नहीं है। दिल्ली जैसे शहरों में इसे अभी भी मंजूरी नहीं मिली है।


इसी साल बंगलुरू में ओला बाइक पर रोक लगाई गई थी। सुरक्षा पर सवालों के कारण उबर मोटो को भी कई बार कानूनी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। हालांकि कई राज्य सरकारों ने बाइक-टैक्सी के लिए नियम बनाने शुरू कर दिए हैं। उम्मीद है आने वाले दिनों में बाइक-टैक्सी का कारोबार और रफ्तार पकड़ेगा।