Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

इस्तेमाल हो चुके कुकिंग ऑयल से बनेगा बायोडीजल, निजी कंपनियों से होगी डील

रसोई में उपयोग हो चुके तेल से बायोडीजल बनेगा। 100 शहरों में इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की जाएगी।
अपडेटेड Aug 12, 2019 पर 10:34  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इस्तेमाल हो चुके खाने के तेल से अब बायोडीजल बनेगा। पहले चरण में देश के सौ शहरों में इसके लिए प्लांट लगेंगे। शनिवार को वर्ल्ड बायोफ्यूल डे पर सरकारी पेट्रोलियम कंपनियां इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के इस प्रोजेक्ट को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने लांच किया। ऑइल मार्केटिंग कंपनियां इसके लिए प्राइवेट कंपनियों से समझौता करेंगी, जो बायोडीजल बनाने के लिए प्लांट लगाएंगी।
 
शुरुआत में तेल कंपनियां बायोडीजल 51 रुपये प्रति लीटर लेंगी और दूसरे साल इसकी कीमत 52.7 रुपये लीटर होगी और तीसरे साल बढ़कर 54.5 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी।


मंत्री ने रीपर्पज युज्ड कुकिंग ऑयल (RUCO) स्टीकर और यूज्ड कुकिंग ऑयल (UCO) के लिए मोबाइल ऐप भी लांच किया। इनसे यह सुनिश्चित किया जाएगा कि इस्तेमाल हो चुका तेल दोबारा इस्तेमाल में न आए। यह स्टीकर फूड जॉइंट्स, होटल्स और रेस्ट्रॉन्ट्स को अपने परिसर में लगाकर यह घोषणा करनी होगी कि वे बायोडीजल के लिए UCO की आपूर्ति करते हैं।
 
धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि कुकिंग ऑयल के अलावा बायोडीजल कई रूपों में मौजूद है। यह व्यर्थ से धन में परिवर्तन का साधन है। उन्होंने इस मौके पर कहा कि बायोफ्यूल डे को अब वैकल्पिक ऊर्जा दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
 
110 करोड़ लीटर बायोडीजल बनेगा हर साल
देश में हर साल 2700 करोड़ लीटर खाने का तेल इस्तेमाल होता है। जिसमें से 140 करोड़ का होटल, रेस्त्रां और कैंटीन से एकत्र किया जा सकता है। इनसे हर साल करीब 110 लीटर बायोडीजल बनाया जाएगा। हालांकि इस वक्त इस्तेमाल हो चुके खाने के तेल को इकट्ठा करने के लिए कोई चेन नहीं है।


इस्तेमाल तेल से होती है बीमारी : हर्षवर्धन


स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इस मौके पर मंत्रालय के प्रयासों की तारीफ करते हुए कहा कि इस्तेमाल हो चुके तेल को दोबारा खाने में इस्तेमाल से हाइपरटेंशन, ऐथिरोस्कलेरोसिस, अल्जाइमर और लिवर से जुड़ी बीमारियां होती हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (@moneycontrolhindi) और Twitter (@MoneycontrolH) पर फॉलो करें।