Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

BMC ने रिपोर्ट में विलंब के कारण मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर में टेस्टिंग पर लगाया प्रतिबंध

निजी प्रयोगशालाओं को 24 घंटे के अंदर टेस्ट की रिपोर्ट देनी होती है और इस बारे में BMC ने 5 जून को नई नियमावली भी जारी की थी।
अपडेटेड Jun 15, 2020 पर 09:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मुंबई की बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) ने मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर दो दुबारा नोटिस जारी की है। मेट्रोपोलिस द्वारा कोरोना मरीजों की जांच में विलंब करने के लिए उन्हें ये नोटिस दी गई है। उसके बाद समाधानकारक जवाब नहीं मिलने के कारण BMC ने मेट्रोपोलिस पर 1 महीने के लिए टेस्टिंग करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।


टेस्ट की रिपोर्ट देरी से प्राप्त होने पर मरीजों के इलाज में विलंब होता है। जिससे हाइ रिस्क वाले रोगियों की तबियत बिगड़ जाती है। निजी प्रयोगशालाओं को 24 घंटे के अंदर टेस्ट की रिपोर्ट देनी होती है और इस बारे में BMC ने 5 जून को नई नियमावली भी जारी की थी। इसके बाद भी मेट्रोपोलिस ने रिपोर्ट समय पर नहीं देने की वजह से BMC ने उसे नोटिस भी जारी की थी।


इसके पहले BMC ने मेट्रोपोलिस को 17 अप्रैल को नोटिस जारी की थी। लक्षण दिखाई नहीं देने वाले और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क ने नहीं आने वाले व्यक्ति की टेस्टिंग करना, दो व्यक्ति के रिपोर्ट पर एक ही सैंपल नंबर होना और टेस्टिंग की रिपोर्ट को सुनिश्चित करने के लिए फिर से जांच के लिए सैंपल नहीं देना ये सारे कारण नोटिस में दर्ज किये गये थे।


लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक इसके बाद मेट्रोपोलिस के उत्तर दिये जाने के बाद टेस्टिंग की अनुमति प्रदान की गई थी। परंतु दुबारा नोटिस दिये जाने पर समय पर उसका जवाब नहीं मिलने पर BMC ने सीधी कार्रवाई  करते हुए बुधवार से मेट्रोपोलिस पर टेस्टिंग करने के लिए एक महीने का प्रतिबंध लगा दिया गया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।