Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ऊर्जा मंत्री ने दिए REC, PFC को लागत रकम घटाने के निर्देश

ऊर्जा मंत्री ने REC और PFC इन दोनों कंपनियों के काम-काज की समीक्षा करके निर्देश जारी किये
अपडेटेड Oct 06, 2021 पर 15:14  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऊर्जा मंत्रालय ने दिग्गज कंपनी REC, PFC को लागत रकम घटाने के निर्देश दिये है। सीएनबीसी-आवाज़ को सूत्रों से जानकारी मिली है कि ऊर्जा मंत्री ने इन कंपनियों से लागत घटाने को कहा है। ऊर्जा मंत्रालय का कहना है कि कंपनी को फंड जुटाने के सस्ते और बेहतर उपाय खोजने चाहिए। इसके साथ ही कंपनियों को बाजार के हिसाब से खुद को बदलना चाहिए। इतना ही नहीं ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि फंडिंग वाले प्रोजेक्ट की कड़ी निगरानी होनी चाहिए।


सीएनबीसी-आवाज़ के लक्ष्मण रॉय ने बताया कि ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने REC और PFC इन दोनों कंपनियों के काम-काज की समीक्षा की है। उनके कामकाज की समीक्षा करने के बाद सिंह ने इन कंपनियों को ये निर्देश दिये हैं कि ये कंपनियों अपने तौर-तरीकों में बाजार के हिसाब से बदलाव लाये।


BREAKING- सेमीकंडक्टर की कमी से निपटने के लिए बनेगी टास्क फोर्स


ऊर्जा मंत्रालय ने कंपनियों से कहा है कि वे इस पर ध्यान दें कि वे कैसे सस्ती दरों में अपफ्रंट फंड जुटा सकती हैं। उन्होंने कहा कंपनियों को सस्ती दरों पर निधि जुटानी चाहिए। ऊर्जा मंत्री कहा कि कंपनियों को ऐसे उपाय तलाशने होंगे जिससे उन्हें सस्ती दरों में कर्ज मिले। यदि सस्ती दरों में पावर प्रोजेक्ट्स को कर्ज मिलेंगे तो इससे इनकी उत्पादन लागत में कमी आयेगी। यदि इनकी प्रोडक्शन कॉस्ट कम होगी तो आम जनता को सस्ते में बिजली उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी।


वहीं ऊर्जा मंत्री ने इन कंपनियों को ये निर्देश भी दिये हैं कि आरईसी और पीएफसी कंपनियां जिन पावर प्रोजेक्ट्स को लोन देती हैं या फंड मुहैया कराती हैं। उन पावर प्रोजेक्ट्स पर कड़ी निगरानी रखें। इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि ये पावर प्रोजेक्ट्स उस पैसे का सही इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं। 


इस बीच आज के बाजार पर नजर डालें तो एनर्जी शेयरों की रफ्तार और बढ़ी है। इस हफ्ते ONGC 16 परसेंट दौड़ा है। वही IOC, COAL INDIA और GAIL जैसे शेयर 52 हफ्ते की ऊंचाई पर पहुंचे हैं। इनकी चाल के चलते लगातार चार दिनों की तेजी के साथ निफ्टी एनर्जी इंडेक्स रिकॉर्ड हाई पर पहुंचा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।