Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

रेरा को लेकर बिल्डर्स अभी भी नहीं गंभीर

प्रकाशित Wed, 07, 2018 पर 17:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रेरा को लागू हुऐ 10 महीने हो चुके हैं लेकिन अभी भी बड़ी तादाद में डेवलपर्स इसके लिए तैयार नहीं हैं। फिक्की और ग्रांट थॉर्टन की रिपोर्ट बताती है कि रेरा को सही मायने में लागू करना है तो काफी काम और करना होगा।


फिक्की और ग्रांट थॉर्नटन का ये सर्वे थोड़ा चौंकाता है। देश में घर खरीदार के हितों की रक्षा करने वाला रेरा असल में उनकी मदद नहीं कर सकता क्यों कि 45 फीसदी से ज्यादा डेवलपर्स ऐसे हैं जिनके पास रेरा के लिए जरूरी कंप्लायंस प्रोसेस का इंतजाम नहीं है। यानि न तो उन्होनें रेरा के नियमों के मुताबिक अपनी वेबसाइट को तैयार किया है और न ही उनके पास अपडेट का कोई पुख्ता सिस्टम है।


डेवलपर्स का कहना है कि जो 45 फीसदी कंपनियां रेरा के मुताबिक अपनी प्रोसेस बना चुकी हैं वो ही बाजार में 80 फीसदी से ज्यादा घर बेचते हैं। जिन बिल्डरों ने अभी तक काम शुरु नहीं किया है उनका कहना है कि ये खर्चिला काम है और अभी इसके एक्सपर्ट्स की भी कमी है। हांलाकि बिल्डरों की संस्था नारडेको का कहना है कि उनके सदस्य अब प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंपनियों के साथ इस पर काम कर रहे हैं।


मौजूदा हालाता के बाद भी जानकार मान रहे हैं कि आने वाले 6-8 महीनों में सभी बिल्डर्स रेरा के मुताबिक काम करना शुरु कर देंगे। लेकिन इसमें जितनी देर होगी घर खरीदारों के लिए उतनी ही मुश्किलें बढ़ेंगी।