Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Covid-19 के दौरान एशिया पैसिफिक में इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने में दूसरे नंबर पर रहा भारत

चीन और भारत एशिया पैसिफिक क्षेत्र के ऐसे दो देश हैं जहां कोविड-19 महामारी के संकट काल में सबसे ज्यादा इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदी गई है।
अपडेटेड Jun 19, 2020 पर 14:02  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चीन और भारत एशिया पैसिफिक क्षेत्र के ऐसे दो देश हैं जहां कोविड-19 महामारी के संकट काल में सबसे ज्यादा इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदी गई है। ऐसा Swiss Re COVID-19 Consumer Survey की रिपोर्ट में पता चला है। सर्वे के अनुसार 28 प्रतिशत भारतीयों ने कोरोना महामारी के दौरान इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदी है। ये जानकारी मई के अंतिम सप्ताह में मुंबई और बंगलुरू में 1000 लोगों पर किये गये सर्वे के आधार पर बताई गई है।


Swiss Re भारत के Head of P&C client markets अमिताभ रे ने कहा कि इंश्योरेंस के लिए नई पॉलिसी सर्च करने में चीन के बाद भारतीय लोग सबसे ज्यादा इस मामले में सक्रिया और व्यस्त रहे हैं जो कि इस बढ़ते बाजार में इंश्योरेंस की क्षमता और महत्व को दर्शाता है।


सर्वे में ये भी पता चला है कि भारत में नई पॉलिसी सर्च करने के मामले में केवल 62 प्रतिशत की वृद्धि ही नहीं देखी गई है बल्कि बीमाकर्ताओं और एंजेटों ने लॉकडाउन के दौरान डिजिटल और फोल कॉल के द्वारा बीमा पॉलिसी बेचने का प्रयास किया है। इसके अलावा करीब 61 प्रतिशत बीमाकर्ता सक्रिय रूप से ग्राहकों के पास पहुंच हैं। जबकि 32 प्रतिशत बीमाकर्ताओं ने मेसेज या ई-मेल और 29 प्रतिशत बीमाकर्ताओं ने फोन से लोगों से संपर्क किया है। बीमाकर्ताओं द्वारा 65 प्रतिशत ग्राहकों से संपर्क किया जाना लोगों द्वारा इंश्योरेंस खरीदने के अभिप्राय को दर्शाता है।


कोविड-19 के कारण भारतीयों में स्वास्थ्य और वित्तीय स्थितियों के संबंध में अनिश्चितता भाव बढ़ा है। इससे टर्म इंश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस और गारंटीड सेविंग प्लान्स जैसे प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ी है। सर्वे के अनुसार भारत के करीब एक तिहाई ग्राहक अपने भविष्य की वित्तीय स्थिति के बारे में चिंतित हैं जो कि संख्या में APAC markets में दूसरे नंबर पर हैं। जबकि 64 प्रतिशत ग्राहक अपनी मानसिक स्थिति को लेकर चिंतित हैं ये संख्या सर्वे किये मार्केट में सबसे ज्यादा है।


इसमें 68 प्रतिशत लोगों को लगता है कि इंश्योरेंस से उनका तनाव कम होता है और ऐसे समय में उन्हें वित्तीय सपोर्ट मिलता है। जबकि 78  प्रतिशत का कहना है कि उनके क्लेम  का अनुभव उनके उम्मीदों के अनुरूप रहा है। सर्वे किये हुए दूसरे मार्केट के विपरीत भारतीय ग्राहकों का कहना है कि बीमाकर्ता चुनने के समय मिक्स और मैच कवरेज की फ्लेक्सिब्लिटी सबसे महत्वपूर्ण होता  है और इसके साथ ही ऑनलाइन प्रोसेस करवाने में भी बीमाकर्ता सक्षम होना चाहिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।