Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

चाहे कुकिंग हो या फिर रोबोटिक्स YoungButterfly पर मिलेंगे सब के लिए सर्टिफाइड ट्यूटर

यंग बटरफ्लाई करीकुलर, नॉन-करीकुलर और प्रोफेशनल ट्रेनिंग के लिए वन स्टॉप प्लेटफॉर्म होने का दावा करता है।
अपडेटेड Feb 27, 2020 पर 17:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीखने की कोई उम्र नहीं होती, लेकिन अपने हॉबी के लिए समय निकाल पाना और अपने नजदीक ही सही ट्यूटर मिल पाना एक ऐसी दिक्कत है जो इस ख्वाहिश में सबसे बड़ी अड़चन बनती है। ट्रेनर्स से जोड़ने की इसी दिक्कत को हल कर रहा है स्टार्टअप यंग बटरफ्लाई। फिर चाहे कुकिंग हो या फिर रोबोटिक्स, हर तरह के स्किल जोड़ने के लिए यंग बटरफ्लाई पर सर्टिफाइड ट्यूटर मिल जाएंगे। अपने इसी ईजीनेस की वजह से स्टार्टअप ने 60 हजार से ज्यादा लर्नर्स का बेस तैयार कर लिया है। आपके दिखाते हैं इनकी अब तक की ग्रोथ स्टोरी और फिर आगे की योजनाओं और सेक्टर में बढ़ते कंपिटीशन पर चर्चा करेंगे।


रोजमर्रा की छोटी दिक्कतों में भी एक बड़े बिजनेस का आइडिया छिपा हो सकता है। स्टार्टअप यंग बटरफ्लाई की भी शुरुआत ऐसी ही छोटी दिक्कत का हल निकालकर हुई। डांस, समर कैंप्स, स्विमिंग या फिर रोबोटिक्स, अगर इनमें से किसी में भी आपकी दिलचस्पी है तो ट्रेनर या फिर वर्कशॉप्स की जानकारी एक ही प्लेटफॉर्म पर दे रहा है यंग बटरफ्लाई । लगभग 18 वर्षों तक एक IT प्रोफेशनल रहे विवेक जैन ने जब खुद का कारोबार शुरू करने की सोची तो उन्हें एक पेरेंट की जद्दोजहद में बिजनेस आइडिया दिखा।


यंग बटरफ्लाई करीकुलर, नॉन-करीकुलर और प्रोफेशनल ट्रेनिंग के लिए वन स्टॉप प्लेटफॉर्म होने का दावा करता है। ये स्टार्टअप एकेडेमिक्स, फाइन आर्ट्स, म्यूजिक, फिटनेस, डांस, कुकिंग जैसे अलग-अलग स्पेशलाइज्ड कोर्सेस और उनके सर्टिफाइड एजुकेटर्स की लोकल डायरेक्ट्री की तरह काम करता है। यानि करियर में नया स्किल जोड़ना हो या फिर कोई हॉबी फॉलो करनी हो, यंग बटरफ्लाई पर ट्रेनर्स से कनेक्ट करना बेहद आसान है। अब तक करीब 60 हजार लर्नर्स और 3 हजार ट्यूटर्स, काउंसलर्स और ट्रेनर्स प्लेटफॉर्म से जुड़े हैं। यंग बटरफ्लाई का रेवेन्यू भी इन्हीं से कमीशन या सब्सक्रिप्शन के जरिए जनरेट होता है।


ये स्टार्टअप अब तक सेल्फ फंडेड है। हाइपर लोकल एडटेक मॉडल की तरह काम करने की वजह से यंग बटरफ्लाई फिलहाल मुंबई, नवी मुंबई और ठाणे में ही ऑपरेशनल हैं। अब कंपनी टियर 3 शहरों में उतरना चाहती है और इसके लिए फंडिंग की भी तलाश जारी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।