Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भारत से तनाव के बीच यहां 1000 करोड़ रुपये निवेश करने की तैयारी में चीनी कार कंपनी

चीनी कार कंपनी एमजी मोटर्स अपने नये मॉडल्स लॉन्च करने के लिए और अपना कारोबार बढ़ाने के लिए 1000 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है।
अपडेटेड Sep 26, 2020 पर 12:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी गतिरोध के कारण भारत में बड़े पैमाने पर कारोबार करने वाली चीनी कंपनियों के व्यापार और कमाई को बड़ा झटका लगा है। चीनी सामानों का बहिष्कार होने की वजह से जहां कंपनियां यहां निवेश से कतरा रही हैं वहीं चीनी कार कंपनी एमजी मोटर्स ने भारत में 1 हजार करोड़ रुपये निवेश करने की तैयारी की है।


इस समय सरकार द्वारा एफडीआई के नियमों में बदलाव किये जाने की वजह से इस कंपनी को डीपीआईआईटी से भी मंजूरी लेनी होगी। टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से न्यूज 18 में छपी खबर के मुताबिक चीनी कार कंपनी एमजी मोटर्स अपने नये मॉडल्स लॉन्च करने के लिए और अपना कारोबार बढ़ाने के लिए 1000 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है।


एमजी मोटर्स इंडिया के प्रेसिडेंट और एमडी राजीव छाबड़ा इस योजना के बारे में सकारात्मक नजरिया रखते हैं उनका कहना है कि बहुत सारे ऐसे उदाहरण हैं, जिसमें देशों के बीच तनाव होते हैं, लेकिन उसकी वजह से बिजनेस पर असर नहीं पड़ता है। चीनी सामानों के विरोध और बहिष्कार के बारे में उनका कहना है कि यह सब शॉर्ट टर्म है, लेकिन अगर मीडियम से लॉन्ग टर्म में देखा जाए तो कंपनी की ग्रोथ होगी। हालांकि उन्होंने ये माना कि भारत के पास अपनी नीतियां निर्धारित करने का अधिकार है।


एमजी मोटर्स ने जनरल मोटर्स का प्लांट खरीद लिया है। इस समय कंपनी भारत में हेक्टर प्रीमियम एसयूवी बेच रही है। छाबड़ा ने कंपनी के नए मॉडल ग्लोस्टर के बारे में कहा कि ये एक लग्जरी एसयूवी है। उन्होंने कहा भी भारत में एमजी मोटर्स अब लोकलाइजेशन को बढ़ाएगी और इससे पहले ही एमजी मोटर्स ने 3000 करोड़ रुपये भारत में निवेश किए हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।