Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एमएसएमई की दिक्कतें सुलझाने के लिए कमिटी

प्रकाशित Thu, 03, 2019 पर 12:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एमएसएमई की दिक्कतों से निपटने के लिए रिजर्व बैंक ने एक समिती का गठन किया है। ये पैनल एमएसएमई सेक्टर में जान डालने के लिए समाधान निकालेगी। सेबी के पूर्व चेयरमैन यू के सिन्हा इस कमिटी के अध्यक्ष होंगे। इस समिती में एमएसएमई मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी राम मोहन मिश्रा और वित्त मंत्रालय के संयूक्त सचिव पंकज जैन शामिल होंगे। साथ ही बैंकों का प्रतिनिधित्व करने के लिए एसबीआई के मैनेजिंग डायरेक्टर पी के गुप्ता, आईसीआईसीआई बैंक के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर अनूप बागची शामिल होंगे। कमिटी इस साल जून अंत तक सेक्टर को उबारने के लिए रिपोर्ट जमा करेगी।


एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने रिजर्व बैंक के फैसले का स्वागत किया है। उनका मानना है कि एमएसएमई लोन रीस्ट्रक्चरिंग बैंकों और एनबीएफसी के लिए इंसेंटिव साबित होगी। इससे लेनदार और देनदार दोनों को फायदा होगा। प्रोविजनिंग की शर्तों के चलते ये एनपीए नहीं माने जाएंगे। साथ ही रीस्ट्रक्चरिंग नाकाम होने पर चिंता नहीं होगी क्योंकि बैंकों ने इसके लिए पहले से प्रोविजनिंग की हुई होगी।