Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: जानिए सड़क सुरक्षा पर देश का हाल

प्रकाशित Thu, 07, 2019 पर 10:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जंगल काटकर हमने शहर बसा लिए सड़कें बना ली लेकिन अब इन सड़को पर गाड़ियों का जंगलराज हो गया है। रोजाना नए वाहनों के साथ नए ड्राइवर रोड का रूख कर रहे हैं लेकिन किस कीमत पर। सड़क परिवहन मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार 2017 में सड़क दुर्घटना में डेढ़ लाख जानें गईं। दुर्घटना में हर घंटे 17 जानें गईं, रोजाना 400 मौत सड़क परिवहन मंत्रालय के मुताबिक 2017 में करीब डेढ़ लाख लोगों ने सड़क दुर्घटना में अपनी जान गंवाई यानि करीब 400 मौतें हर रोज और 17 जानें हर घंटे सड़क दुर्घटना में गईं। ये अगर 2017 का आंकड़ा है तो जाहिर तौर पर 2018 में वाहनों की संख्या बढ़ी ही होगी। सवाल उठता है कि गलती किसकी? लेकिन दूसरों पर एक अंगुली उठाने पर चार अंगुलियां अपनी तरफ इशारा करती हैं। अपने गिरेबान में झांककर कहिए कि जब आप रोड पर निकलते हैं तो आप अपने आस पास के लोगों और रोड के नियमों का भी ख्याल रखते हैं। अगर किसी को गलत करते हुए देखते हैं तो क्या आप उसे रोकते हैं? या नजरअंदाज कर आगे बढ़ते जाते हैं? अपनी और दूसरों की गलती को नजरअंदाज करके हम सड़कों पर जान से खिलवाड़ कर रहें हैं। इसीलिए बड़ी आसानी से सड़क पर अपनी आदत सुधार लें तो हम बड़े पॉजिटीव बदलाव ला सकते हैं।




घर से निकले हैं तो ये बात ध्यान में रखें कि कोई आपके वापस लौटने का इंतजार कर रहा है। सड़क पर खुद के साथ-साथ दूसरों को भी सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी हमारी है। दरअसल नशे में वाहन चलाना, गाड़ी चलाते वक्त धूम्रपान करना हादसों की बड़ी वजह हैं। कई बार हादसों की वजह मोबाइल फोन भी होता है, इसलिए गाड़ी चलाते वक्त फोन पर बात करने, वॉट्सअप, फेसबुक का इस्तेमाल करने से बचें। अक्सर जल्दबाजी और ओवरटेक भी लोगों की जान की दुश्मन बन जाती है। तभी तो हादसों से बचने के लिए ट्रैफिक नियमों का पालन करना जरूरी हैं।




सर्दी में वाहन चलाना और अचानक कोहरे की चादर को फाड़ते हुए सामने आने वाली गाड़ी से बचना अपने आप में एक चुनौती होता है। जिस तरह से सड़क हादसों कि संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, इससे साफ है कि लोग दिन पर दिन ड्राइविंग करते वक्त लापरवाह होते जा रहे हैं। लेकिन अगर जरा भी सावधानी बरती जाए, तो ये आप और आपके परिवार के लिए राहत का समाचार लेकर आ सकती है।



 
सैकड़ों दुर्घटनाओं की जड़ में कोहरा और लापरवाही से गाड़ी चलाना ये दो बड़ी वजह हैं। ऐसे में जरूरी है कि लोग कोहरे में सड़क पर चलें तो पूरी सावधानी बरतें। ट्रैफिक नियमों का पालन करने के साथ ही रफ्तार पर भी नियंत्रण रखें। क्यों कि आपकी जरा सी सावधानी से आप के साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा भी बढ़ जाएगी।